Current News

मोदी के वाराणसी से निर्वाचन को चुनौती पर फैसला मंगल को

Publsihed: 05.Dec.2016, 22:42

इलाहाबाद : इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2014 में वाराणसी लोकसभा सीट से चुनाव को चुनौती देने वाली याचिका पर फैसला सुनाना मंगलवार तक के लिए टाल दिया . न्यायमूर्ति विक्रम नाथ ने कांग्रेस विधायक अजय राय की याचिका पर आज फैसला पढ़ना शुरू किया, लेकिन समय के अभाव की वजह से फैसला कल सुनाने का निर्णय लिया.

पनीर सिल्वम तमिलनाडू के सीएम होंगे, जयललिता नहीं रही

Publsihed: 05.Dec.2016, 19:59

अन्नाद्र्मुक की महासचिव और तमिलनाडू की मुख्यमंत्री जयललिता सम्भवत अब इस दुनिया में नहीं रही. इस तरह की खबरे तमिल के टीवी चेनलो ने आज शाम जारी कर दी थी. लेकिन अपोलो अस्पताल ने एक बयान जारी कर के कहा है कि जयललिता लाईफ स्पोर्ट पर है. इस का मतलब है कि जयललिता का हार्ट मशीन से काम कर रहा है.

शाह का नहीं,वह13860 करोड अफसरो-नेताओ का

Publsihed: 04.Dec.2016, 13:13

आय घोषणा योजना के तहत 13860 करोड़ रुपये घोषित करने वाले जमीन कारोबारी महेश शाह को इनकम टैक्स विभाग (IT) ने छोड़ दिया है. शाह को सोमवार को फिर पूछताछ के लिए बुलाया गया है. शाह ने हिरासत में कहा कि वह निर्दोष है और यह रुपया भी उसका नहीं है और न ही किसी एक आदमी का है.उन्होंने बताया है कि इसके पीछे कई नेता , अधिकारी और व्यापारी भी शामिल है. शाह ने बताया है कि मैं सिर्फ एक प्यादा हूं, मुझे इस धन की घोषणा करने के बदले कमीशन देने का वादा किया गया था. 

मोदी का चेला छापने लगा दो-दो हजार के नकली नोट

Publsihed: 04.Dec.2016, 12:13

पंजाब पुलिस ने अभिवन वर्मा नाम के इंजीनियर को नकली नोट छापने के जुर्म में गिरफ्तार किया है. इस से पहले अभिनव तब चर्चा में आये थे जब मेक इन इंडिया कैम्पेन के तहत खुद प्रधानमंत्री मोदी ने उनकी तारीफ की थी.अभिनव ने बनाया था ‘Live Braille’ नाम का एक कमाल का डिवाइस

अभिनव के साथ विशाखा वर्मा और सुमन नागपाल को भी गिरफ्तार किया गया है. इनके पास से 42 लाख की कीमत के 2 हज़ार के नकली नोट बरामद किये गए हैं. अभिनव के अलावा विशाखा एमबीए स्टूडेंट है और सुमन नागपाल एक प्रॉपर्टी डीलर हैं.

केबिनेट : बैंक में जमा काले धन पर जुर्माना तय किया

Publsihed: 24.Nov.2016, 22:35

बृहस्पतिवार देर रात मोदी सरकार के मंत्री मंडल की विशेष बैठक में 10 नवम्बर के बाद 30 दिसम्बर तक बैंको में जमा होने वाली अन-अकाऊंटेड मनी पर लगने वाले टक्स पर 60 फिसदी लेवी लगाने के लिए आयकर कानून में संशोधन करने का निर्णय लिए जाने के संकेत हैं, हालांकि सरकारी तौर पर कुछ नहीं बताया गया क्योंकि संसद का सत्र चल रहा है और संसद सत्र के दौरान सरकार के फैसले बाहर जाहिर करने की परंपरा नहीं है.