India Gate Se

Published: 22.Aug.2017, 20:40

तीन तलाक की फिलहाल इतिश्री हो गई | देश भर में मुस्लिम औरतों ने जश्न मनाया | मुस्लिम औरतों ने कहा-"देश को 1947 में आज़ादी मिली थी | पर मुस्लिम औरतों को आज आजादी मिली |" अगर यह आज़ादी है, तो मुस्लिम औरतों की इस आज़ादी की रहनुमा उत्तराखंड की शायरा बानो है | जो अपने तलाक का मामला सुप्रीम कोर्ट तक ले कर गई | वैसे मुस्लिम औरतों को आज़ादी 1985 में ही मिल जाती | जब शाहबानों सुप्रीमकोर्ट में मुआवजे का हक जीती थी | पर तब आज़ादी की भ्रूण हत्या हो गई थी | प्रधानमंत्री की कुर्सी पर अब राजीव गांधी नहीं है | जो सुप्रीमकोर्ट के फैसले को संसद से बदलवा देंगे | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकिले से मुस्लिम महिलाओं को इन्साफ का वायदा किया है | इस लिए जल्द ही नया क़ानून आएगा | जो 1937 और 1939 के शरिया क़ानून की जगह लेगा | सुप्रीमकोर्ट के फैसले से ब्रिटिश राज के दोनों क़ानून खत्म हो गए | क़ानून मंत्री रवि शंकर प्रशाद ने कहा कि यह धर्म का मामला नहीं | यह आस्था का मामला नहीं | यह बराबरी का मामला है | वह कपिल सिब्बल की उस टिप्पणी पर बोल रहे थे | जिस में उन ने तीन तलाक की तुलना राम मंदिर में आस्था से की थी | रवि…

और पढ़ें →
Published: 21.Aug.2017, 16:12

हमारी सेना का एक कर्नल पिछले आठ सालों से जेल काट रहा था | यूपीए सरकार ने उन्हें 2008 में गिफ्तार करवाया था | यूपीए सरकार उन दिनों पाकिस्तान से रिश्ते सुधार रही थी | मनमोहन सिंह ने पाकिस्तान को भी आतंकवाद से प्रभावित देश बता दिया था | बलूचिस्तान के आतंकवाद को कश्मीर के आतंकवाद से जोड़ दिया था | इस लिए भारत की आतंकवादी वारदातों में हिन्दुओं को फंसाने की साजिश रची गई | अजमेर शरीफ, समझौता एक्सप्रेस, मक्का मस्जिद , मालेगांव जैसी वारदातों में हिन्दुओं को फंसाया गया | गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे और पी.चिदम्बरम ने खुलेआम हिन्दू आतंकवाद की थ्योरी पेश की | अपन ने 26 जुलाई के अपने कालम में लिखा था -" हिन्दू आतंकवाद की झूठी कहानियों के उड़े परखचे |" तब साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को जमानत मिल गई थी | और असीमा नन्द भी बरी हो गए थे | अपन ने तब कर्नल पुरोहित के खिलाफ रची झूठी कहानी भी लिखी थी | जिन्हें मालेगांव विस्फोट में फंसाया गया था | असल में पहले मालेगांव विस्फोट में 13 मुस्लिम पकडे गए थे | इन में से एक पाकिस्तानी भी था | महाराष्ट्र की एटीएस ने 2006 में सभी के खिलाफ चार्जशीट भी दाखिल कर दी थी…

और पढ़ें →
Published: 18.Aug.2017, 21:07

जो बात आज़ादी के तुरंत बाद शुरू होनी चाहिए थी | वह अब शुरू हो रही हैं | बात सिर्फ मदरसों को रजिस्टर्ड करने की नहीं है | जिस का आदेश उत्तरप्रदेश की भाजपा-योगी सरकार ने दिया है | इस से होना जाना कुछ नहीं | सिर्फ रेगुलेट करने की बात है | पर योगी सरकार के इस आदेश से हिन्दू खुश हैं | उन्हें लगता है कि बेकाबू मुसलमानों को काबू करने वाला कोई आ गया है | मुस्लिम नेता, मौलवी-मुफ्ती इस का स्वागत करते | तो हिन्दुओं का खुश होना भी फुस्स हो जाता | हिन्दुओं को एक-जुट होने का मौक़ा मुसलमान खुद दे रहे हैं | अब मदरसों के रजिस्टर्ड करने का विरोध करने की क्या जरुरत थी | पर अपन ने टीवी चेनलों की बहस में मुसलमानों की ओर से विरोध होता देखा | विरोध कर के भाजपा का हिन्दू वोट बैंक खुद मजबूत कर रहे हैं | मुसलमान खुद ध्रुविकरण कर रहे हैं | विरोध का कोई तर्क भी नहीं | अब इतना सा तर्क कि सभी धर्मों को अपनी शिक्षण संस्थाएं खोलने का संवैधानिक हक है | भाजपा संविधान के खिलाफ जा कर मुसलमानों को दबाना चाहती है | अब यह तर्क तो अदालत में भी नहीं चलने वाला | भाई संस्था खोलने से किस ने रोका है | सिर्फ संस्था को रजिस्टर्ड…

और पढ़ें →
Published: 16.Aug.2017, 17:21

याद होगा आप को | दादरी में अख़लाक़ की हत्या ने देश भर में आक्रोश पैदा किया था | वामपंथियों ने इस एक घटना को मोदी सरकार के खिलाफ हथियार बना लिया था | देश भर में फैले अपने स्लीपिंग सेलों को इशारा किया और असहिष्णुता का नारा गूँज उठा | वामपंथी बुद्धीजीवियों ने पुरस्कार वापसी का नाटक शुरू कर मोदी के खिलाफ बवाल खडा कर दिया था | बस उन्हीं दिनों हैदराबाद यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे रोहित वेमूला ने आत्महत्या कर ली | बिहार के चुनाव सिर पर थे | वामपंथियों को तो एक और मुद्दा मिल गया | तभी सोशल मीडिया पर किसी ने बहुत ही दिलचस्पी टिप्पणीं की थी  - "'यात्रिगण  कृपया ध्यान दें | असहिष्णुता एक्सप्रेस ,जो दादरी से निकली थी | वो मालदा और पूर्णिया में नहीं रुकेगी | उसका अगला स्टाप हैदराबाद होगा | " और वही हुआ | वामपंथियों का एजेंडा मुसलमानों और दलितों को भाजपा के खिलाफ खड़ा करना था | रोहित वास्तव में ओबीसी था | पर उस की मां दलित थी | जिस का अपने ओबीसी पति से तलाक हो गया था | दलितों को मिलने वाले लाभ उठाने के लिए रोहित की मां ने अपने बच्चों के दलित होने का सर्टिफिकेट बनवा लिया था | जो सरासर फर्जीवा…

और पढ़ें →
Published: 11.Aug.2017, 23:23

भाजपा के तीनों मुद्दों का सम्बन्ध मुसलमानों से है | तीनों मुद्दे भाजपा का हिन्दू वोट बैंक मजबूत करते हैं | पहली बार बनी भाजपा की अपनी सरकार से हिन्दुओं की उम्मीन्दें बहुत ज्यादा हैं | मोदी भले ही विकास के मुद्दे पर जीतने का दावा करें | पर भाजपा की जीत बड़ा कारण कांग्रेस की मुस्लिम परस्ती भी था | कांग्रेस की अंदरुनी छानबीन में भी यही कहा गया है | इसलिए 2019 से पहले तीनों मुद्दे सुप्रीमकोर्ट के जारी खुल गए हैं | राम जन्मभूमि के दावे पर निर्णायक सुनवाई शुरू हो गई है | सुप्रीम कोर्ट 2019 से पहले फैसला कर देगी | तीन तलाक पर भी सुप्रीमकोर्ट का रूख सख्त है | जो समान नागरिक संहिता का रास्ता खोलेगा | कश्मीर की विशेष धारा 370 पर भी सुप्रीमकोर्ट में सुनवाई चल रही है | संविधान के अनुच्छेद 35 (ए) को चुनौती दी गई है | यही अनुच्छेद कश्मीर को स्टेट सब्जेक्ट का अधिकार देता है | यानी तीनों विवादास्पद मुद्दों से अब सुप्रीम कोर्ट निपटेगा | रामजन्म भूमि को छोड़ कर बाकी दोनों मामलों पर कोर्ट ने मोदी सरकार को नोटिस दिया है | मोदी सरकार ने भाजपा के एजेंडे के मुताबिक़ जवाब भी दे दिया है | इन दोनों मुद्दों प…

और पढ़ें →
Published: 11.Aug.2017, 12:05

हामिद अंसारी का राजनीति से कुछ लेना देना नहीं था | भैरोसिंह शेखावत 2007 में रिटायर हो रहे थे | सोनिया-मनमोहन सरकार वामपंथियों के समर्थन से चल रही थी | कांग्रेस ने महाराष्ट्र की कांग्रसी नेता प्रतिभा पाटिल को राष्ट्रपति बनाया | तो कम्यूनिस्ट पार्टी ने उप-राष्ट्रपति का पद मांग लिया | कांग्रेस के पास संसद में बहुमत नहीं था | इस तरह सोनिया गांधी को कम्यूनिस्टों की बात माननी पडी | कम्यूनिस्टों ने विदेश सेवा से रिटायर वामपंथी विचारधारा के हामिद अंसारी का नाम आगे किया | इस तरह राजनीति का अनाडी राज्यसभा का सभापति बन बैठा | पिछले दस साल में हामिद अंसारी ने राज्यसभा में कोई छाप नहीं छोडी | भरोसिंह शेखावत को आज भी याद किया जाता है | अपन ने उनको वाजपेयी सरकार के मंत्रियों की खाल खिंचते देखा था | प्रश्नकाल में उनने कई बार भाजपाई मंत्रियों को कटघरे में खडा किया | उसी वक्त लोकसभा का चेनल शुरू हुआ था | राज्यसभा चेनल शुरू करने का प्रस्ताव भी था | पर भैरो सिंह शेखावत ने चेनेल की फाईल को कभी क्लियर नहीं किया | इस मुद्दे पर अपनी उनके साथ कई बार बातचीत हुई | उनकी दलील हुआ करती थी कि लोकसभा और राज्यसभ…

और पढ़ें →
Published: 10.Aug.2017, 09:57

अहमद पटेल राज्यसभा का चुनाव जीत गए | अमित शाह ने पूरी कोशिश की थी कि अहमद पटेल न जीत पाएं | पटेल को हराणे  के लिए उन्होंने बलबीर राजपूत को भाजपा का उम्मीन्द्वार बनाया था | बलबीर राजपूत कांग्रेस के विधायक थे | वह कांग्रेस से इस्तीफा देते ही भाजपा के राज्यसभा उम्मीन्द्वार बन गए | गुजरात विधानसभा की सीटों के मुताबिक़ भाजपा दो सीटें जीत सकती थीं | इसलिए भाजपा संसदीय बोर्ड ने 27 जुलाई को दो ही उम्मीन्द्वार तय किए थे | केम्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के अलावा अपने अध्यक्ष अमित शाह को उम्मीन्द्वार बनाया था | अपन ने उसी दिन लिखा था कि बलबीर राजपूत भाजपा का तीसरा उम्मीन्दवार तय हो सकता है | और अगले दिन अमित शाह ने गांधी नगर जा कर बलबीर राजपूत को भाजपा का उम्मींद्वार बना दिया | अपन नहीं जानते कि संसदीय बोर्ड ने मंजूरी दी थी या नहीं | भाजपा में संसदीय बोर्ड ही उम्मीन्द्वारों का फैसला लेता है | भाजपा में अमित शाह की छवि चाणक्य की बन चुकी है | रणनीति में प्रमोद महाजन ने अच्छी छवि बनाई थी | प्रमोद महाजन ने अपनी छवि चुनाव जीतने वाले मनेजर की बना ली थी | पर प्रमोद महाजन को चाणक्य तो किसी ने नह…

और पढ़ें →
Published: 08.Aug.2017, 21:00

गुजरात की तीन राज्यसभा सीटों का चुनाव कांग्रेस-भाजपा में झगडे की नई वजह बन गया है | कांग्रेस के 57 विधायक थे, तो तीन में से एक सीट कांग्रेस की थी | कांग्रेस ने पांचवीं बार भी अहमद पटेल को टिकट दे दिया | अहमद पटेल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के ख़ास-उल-ख़ास हैं | सोनिया गांधी के रानजीतिक चाणक्य | पर जैसे ही अहमद पटेल को पांचवीं बार टिकट मिला | तो कांग्रेस में बवाल मच गया | शंकर सिंह वाघेला ने तो कांग्रेस छोड़ दी | वाघेला के साथ कांग्रेस के 13 एमएलए थे | अहमद पटेल के पास 44 विधायक ही बचे थे | जिन्हें बचाने के लिए कांग्रेस बेंगलूर ले गई | अमित शाह ने मौक़ा देख कांग्रेस से टूटे बलवंत राजपूत को भाजपा का तीसरा उम्मीन्द्वार बना दिया | चुनाव जीतने के लिए अहमद पटेल को 45 वोटों की दरकार थी | अब अहमद पटेल की जीत एनसीपी के दो और जदयू के एक विधायक पर निर्भर थी | मंगलवार को दिन भर वोट पड़े | कांग्रेस शाम पांच बजे तक बेफिक्र थी | अपन दिन भर संसद के सेंट्रल हाल में कांग्रेस -भाजपा के नेताओं से पल-पल की खबर ले रहे थे | कई खबरें तो न्यूज चेनलों से भी फास्ट मिल रहीं थी | अहमद पटेल ने मीडिया के सामने आ…

और पढ़ें →
Published: 28.Jul.2017, 21:37

पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने गजब का काम किया | प्रधानमंत्री को भ्रष्टाचार का दोषी ठहरा कर प्रधानमंत्री पद से अयोग्य करार दे दिया | पांच जजों की बेंच ने कहा कि नवाज शरीफ के खिलाफ मुकदमा चलाया जाना चाहिए | दरअसल पनामा लीक ने नवाज शरीफ के काला धन छुपाने, भ्रष्‍टाचार और मनी लांड्रिंग की पोल खोली | कोर्ट ने नवाज शरीफ और परिजनों को दोषी पाया है |  21 जुलाई को पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने पनामा पेपर्स मामले में फैसला सुरक्षित रख लिया था | नवाज शरीफ के खिलाफ फैसला आते ही उनका सियासी भविष्‍य अधर में लटक गया | अपने यहाँ 1975 में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने ऐसी हिम्मत की थी | अदालत ने इंदिरा गांधी का लोकसभा का चुनाव रद्द किया था | प्रधानमंत्री पद से योग्य भी नहीं ठहराया था | फिर भी देश को इमरजेंसी झेलनी पडी थी | देश की जनता के मौलिक अधिकार खत्म कर दिए गए थे | जब कि अयोग्य करार देने के कुछ मिनटों बाद ही नवाज शरीफ ने प्र्धानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया | अपन भारत में ऐसी कल्पना भी नहीं कर सकते | मध्यप्रदेश के एक मंत्री का विधायक पद से निर्वाचन रद्द हुआ है | फिर भी वह इस्तीफा नहीं दे रहा था |…

और पढ़ें →
Published: 27.Jul.2017, 21:44

कांग्रेस को झटका डर झटका लग रहा है | सोनिया गांधी को राहुल गांधी की नहीं | अलबत्ता शरद पवार , शंकर सिंह वाघेला , विजय बहुगुणा जैसे अनुभवियों की जरूरत है | पर अपन ने जिन तीनों का नाम लिया | वे तीनों कांग्रेस छोड़ चुके हैं | एक-एक कर  दिग्गज कांग्रेस छोड़ गए | अब चिदंबरम जैसे घमंडी , सिब्बल जैसे दम्भी , आनन्द शर्मा जैसे हवाई , दिग्विजय जैसे आतंकवादियों के समर्थक बचे हैं | अब इन से क्या तो सोनिया गांधी को ढंग की सलाह मिलेगी | और क्या राहुल गांधी को सलाह मिलेगी | बात कांग्रेस के इन चार नेताओं की चली तो बताते जाएं | गुरूवार को जब भाजपा के शिवप्रताप शुक्ल ने हिन्दू आतंकवाद की साजिश का मुद्दा उठाया | तो दिग्विजय सिंह , आनन्द शर्मा , कपिल सिब्बल तीनों ने हिन्दू आतंकवाद को हकीकत बताने की कोशिश की | यानी 2014 के चुनाव नतीजे से कुछ नहीं सीखा | न उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड के चुनाव नतीजों से कुछ सीखा | इस लिए ही तो सात दिनों के छोटे से समय में कांग्रेस को दो बड़े झटके लगे | पहले शंकर सिंह वाघेला ने कांग्रेस छोडी | फिर नीतीश कुमार ने कांग्रेस का गर्भाधीन राष्ट्रीय महागठबंधन छोड़ दिया | राष्ट्र…

और पढ़ें →