India Gate Se

Published: 04.Apr.2018, 19:50

अजय सेतिया / कांग्रेस के राजनीतिक पंडित बदलती राजनीतिक फिजां पर नजर टिकाए हुए हैं | राहुल गांधी की कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर ताजपोशी के बाद अचानक से तीसरे मोर्चे की गतिविधियाँ बढ़ गई हैं | कांग्रेस के साथ गठबंधन करने वाले अखिलेश यादव भी खुद को तीसरे मोर्चे के साथ जोड़ते हुए दिखाई दे रहे हैं | तीसरे मोर्चे में जान फूंकने के लिए पिछली बार सरकार बनाने वाले लोकतांत्रिक मोर्चे का कोई न कोई नेता दिल्ली आ रहा है | कुछ गतिविधियाँ दिल्ली के राजनीतिक गलियारे में हो रही हैं, तो कुछ संसद के केन्द्रीय कक्ष में भी, जिसे हिन्दी भाषी सांसदों ने अब नया नाम "गोल कुंडम" दिया है | गोल कुंडम राजनीतिक हवा का रूख बताता है | इस हफ्ते के तीन दिन बहुत कुछ कहते हैं , पहले दिन सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी ने दिल्ली में डेरा जमाया और राजनीति की गोटियाँ बिछाई | वह शरद पंवार और संजय राउत के साथ दिखाई दी | शरद पंवार मौटे तौर पर कांग्रेस के साथ हैं , हालांकि प्रफुल्ल पटेल ने गुजरात में मोदी की मदद की थी, लेकिन शरद पवार पिछले दिनों सोनिया गांधी के भोज में भी शामिल हुए थे | उधर संजय राऊत की पा…

और पढ़ें →
Published: 23.Mar.2018, 19:14

अजय सेतिया / आज़ादी के बाद पहली बार राज्यसभा का स्वरूप बदला है | मोरारजी देसाई, चरण सिंह, वीपी सिंह ,चंद्रशेखर , देवगौड़ा, गुजराल सभी कांग्रेसी थे | पर गैरकांग्रेसी प्रधानमंत्री बने | वाजपेयी पहले गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्री बने थे | सात गैर कांग्रेसी सरकारों के बावजूद राज्यसभा में कांग्रेस का बहुमत बरकरार रहा | राज्यसभा में अब कांग्रेस का बहुमत तो नहीं रहा | औकात भी बहुत घट गई है | अप्रेल से राज्यसभा में भाजपा के 70 सदस्य होंगे और कांग्रेस के 54 ही | अब मनोनीत तीन सदस्य का कार्यकाल भी खत्म होने वाला है |  रेखा , अन्नू आगा , सचिन तेंदुलकर 26 अप्रेल को रिटायर होंगे | एक और चौथे मनोनीत के परासरन का कार्यकाल भी 8 जून को पूरा हो जाएगा | मनोनीत हुए चारों नए सदस्य भाजपा में शामिल हुए, तो भाजपा की तादाद 74 हो जाएगी | यानी कांग्रेस से 20 ज्यादा  | राज्यसभा में अच्छी खासी तादाद के कारण कांग्रेस सरकार को कई बार पटकनी दे देती थी | अब उस की खुद की  और उस के सहयोगियों की ताकत में भारी गिरावट आई है | उधर लोकसभा में चार उप चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस की सीटे…

और पढ़ें →
Published: 19.Mar.2018, 21:25

अजय सेतिया/ दिल्ली के वरिष्ठतम पत्रकार श्री मनमोहन शर्मा जी ने अपनी फेसबुक वाल पर आज आचार्य कृपलानी और सुचेता कृपलानी से जुड़ी एक याद साझा की है । उसे पढ़ कर सांसदों के वेतन भत्तों पर कुछ लिखना जरूरी हो गया है। पहले आप मनमोहन शर्मा जी का लिखा पढ़ें, फिर ताज़ा स्थिति पर मेरी टिप्पणी। मनमोहन शर्मा लिखते हैं :-"" आचार्य कृपलानी की बेबाक टिप्पणी से एक बार मेरा भी वास्ता पड़ा था। बात कई दशक पुरानी है। आचार्य कृपलानी अपनी पत्नी सुचेता कृपलानी सहित उन दिनों तंगदस्ती का शिकार थे। यह दम्पति बेहद ईमानदार थे। उनदिनों वे दिल्ली के ग्रीन पार्क बस्ती के एक गराज पर बने एक कमरे में रहा करते थे। क्योंकि इस दंपति ने अपने जीवन में कोई मकान या आवास बनाने की ओर कभी ध्यान की नहीं दिया इसलिए वे जिन्दगी के आखिरी दिन किराए के मकान में काटने पर मजबूर थे। मेरे एक पत्रकार मित्र मुझे उनसे मिलने के लिए ले गए। सुचेता कृपलानी ने हमदोनों से चाय के लिए पूछा तो दादा फौरन फट पड़े। उन्होंने कहा “अरे भाग्यवान इनको चाय कहां से पिलाएगी? घर में तो एक पैसा नहीं जो बाजार से दूध लाया जाए। हां, काली चाय इनको पिला दे।“

और पढ़ें →
Published: 14.Mar.2018, 20:47

अजय सेतिया / उत्तर प्रदेश से लोकसभा की दो सीटों के चुनाव नतीजों ने नरेंद्र मोदी और अमित शाह को चौंकाया होगा | अलवर और अजमेर की हार का ठीकरा वसुंधरा राजे के सिर फोड़ दिया गया था | इसी लिए वसुंधरा राजे के घौर विरोधी किरोड़ी लाल मीना को राज्यसभा का टिकट दिया गया | उन्हें बदलने की अफवाहें भी फैलाई जा रही हैं | क्या अब योगी आदित्य नाथ को भी मुख्यमंत्री पद से हटाए जाने की अफवाहें उडाई जाएँगी | वह तो खुद अपनी लोकसभा सीट हारे हैं , क्या उप-मुख्यमंत्री मौर्य को भी हटाया जाएगा | इस से पहले मध्य प्रदेश की झाबुआ और पजाब की गुरदासपुर लोकसभा सीट भी भाजपा हारी थी |  ये सारी वो सीटें है जो भाजपा 2014 के लोकसभा के आम चुनावों में जीती थी | तो क्या वसुंधरा राजे, योगी आदित्य नाथ और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिव राज सिंह चौहान को भी हटाया जाना चाहिए और केंद्र में मंत्री पंजाब प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष विजय सांपला को भी हटाया जाना चाहिए | या फिर उप चुनावों में लोकसभा सीटों के हारने की जिम्मेदारी केन्द्रीय नेतृत्व को लेनी चाहिए | 

बिहार की अररिया लोकसभा सीट का नतीजा सर्वविदित था | नीतीश कु…

और पढ़ें →
Published: 22.Feb.2018, 20:19

जब आप पार्टी बन रही थी | तभी अपन ने एक लेख लिखा था | ओम थानवी के जमाने में जनसत्ता में भेजा गया वह अपना आख़िरी लेख था | जो छपा नहीं , और फिर अपन ने लिखा नहीं | उस लेख में अपन ने लिखा था कि केजरीवाल वामपंथी नक्सली है | उस के नक्सलियों से करीबी सम्बन्ध हैं | यों तो अपन को ओम थानवी के वामपंथी होने का पता था | पर प्रभाष जोशी की परम्परा वाले जनसत्ता में सम्पादक की विचारधारा से लेख तय नहीं होते थे | जिसे ओम थानवी ने पैरों तले रौंद दिया था | वह तो अपन को बाद में पता चला कि ओम थानवी भी केजरीवाल के बुद्धीपुरुष थे | और राज्यसभा पर निगाह टिकाए हुए थे | फिर 2015 के  विधानसभा चुनाव के  प्रचार अभियान में नरेंद्र मोदी ने वहीं शब्द कहे | मोदी ने पहली बार केजरीवाल को शहरी नक्सली बताया था | जनसत्ता के रीढ़ की हड्डी रहे हरी शंकर व्यास ने मोदी के उस भाषण को याद किया है | उन ने मोदी के भाषण की याद दिलाते हुए लिखा है तब मोदी ने केजरीवाल को जंगल में चले जाने की नसीहत दी थी।अब जब सोमवार की रात को दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश पर कथित हमला हुआ | दिल्ली प्रदेश भाजपा के…

और पढ़ें →
Published: 16.Feb.2018, 21:10

अजय सेतिया / भले ही नरेंद्र मोदी का कोई हाथ न हो | पर कलंक तो नरेंद्र मोदी सरकार पर ही लगेगा | नीरव मोदी का 11,360 करोड़ का बैंक घोटाला 2 जी से कम नहीं | आजाद भारत का सब से बड़ा बैंक घोटाला उन्हीं के राज में हुआ है | भाजपा के सारे नेता कह रहे हैं कि घोटाला 2011 से शुरू हुआ था | ऐसे तो लालू यादव भी कह सकते हैं कि चारा घोटाला जगन्नाथ मिश्र के समय शुरू हुआ था | हर्षद मेहता ने 700 का करोड़ का घोटाला किया था | तो कलंक नरसिंह राव के माथे पर लगा था | नरसिंह राव ने खुद को पाक साफ़ साबित करने के लिए जेपीसी बनाई थी | क्या नरेंद्र मोदी भी जेपीसी बनाएंगे | उन ने तो न खाऊंगा , न खाने दूंगा की कसम खाई हुई है | अपन मानते हैं कि कम से कम वह तो जुमला नहीं है | वैसे भी नरेंद्र मोदी को अपनी छवि की नरसिंह राव से ज्यादा चिंता होगी | कांग्रेस का यह आरोप कोई कम गंभीर नहीं कि घोटाले की शिकायत तो 2016 में हो गई थी | पर अब यह बात भी सामने आ गई है कि बैंको में हो रहे घोटाले का राज तो 2013 में ही खुल गया था | जब दूबे नाम के इलाहाबाद बैंक के डायरेक्टर ने 1500 करोड़ रूपए के लोंन पर ऐतराज किया था | तब पी.…

और पढ़ें →
Published: 15.Feb.2018, 22:10

असम के माजूली जा रहा सेना का हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया. दुर्घटना में दो पायलटों की मौत हो गई. तकनीकी समस्या के कारण हुई दुर्घटना.

असम.  रावरिया एयरबेस के पास  हेलीकॉप्टर क्रैश होने से उसमें सवार दो पायलटों की मौत हो गई. गुरुवार को दोपहर लगभग 1.30 बजे माजूली नदी के नजदीक दोरबार चपोरी में ये दुर्घटना हुई. पुलिस के अनुसार दुर्घटना में मारे गए पायलट आर्मी और एयरफोर्स के थे. एक अधिकारी के अनुसार इस दुर्घटना के पीछे तकनीकी कारण हो सकते हैं.

लोगों ने हेलिकॉप्टर में आग लगते और जमीन पर गिरते देखा. दुर्घटना से पहले माजुली के ही नजदीक एयरफोर्स के माइक्रोलाइट हेलीकॉप्टर का संपर्क टूट गया. हेलीकॉप्टर ने असम के जोरहाट एयरपोर्ट से उड़ान भरी थी. 12 बजे भरी गई इस उड़ान के बाद माजूली इलाके में हेलीकॉप्टर अचानक लापता हो गया. माजूली में ही इसकी आखिरी लोकेशन ट्रैक की गई थी जिसके बाद विमान से संपर्क टूट गया. 

अधिकारियों के अनुसार हेलीकॉप्टर के मलबे का पता लगा लिया गया है और कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का आदेश भी दिया गया है. वहीं रक्षा विभाग और वायु…

और पढ़ें →
Published: 02.Feb.2018, 23:24

अजय सेतिया / राजस्थान के चुनाव नतीजों ने खलबली मचा दी है | अपन ने बजट से ज्यादा महत्व राजस्थान के उप चुनावों को दिया था | राजस्थान के चुनाव नतीजों ने राजग में खलबली मचाई | तो भाजपा सरकार भी हडबडी में आ गई | चुनाव नतीजों के 24 घंटों के भीतर तीन मामले कोर्ट में पहुंच गए | बाढ़ साल के बाद बोफोर्स का भूत फिर उठ खडा हुआ | अब जब कि मोदी सरकार के 44 महीने बीत चुके हैं | सिर्फ 16 महीने बाकी बचे हैं , तो बोफोर्स घोटाले की अपील ने राजनीति गर्म कर दी है | कांग्रेस इसे मोदी सरकार की दुर्भावना और हडबडी बता रही है | वैसे रिकार्ड के लिए बता दें कि मनमोहन सिंह ने सरकार बनते ही सब से पहला काम बोफोर्स का किया था | एक साल से भी कम समय में हाईकोर्ट से सभी बोफोर्स आरोपियों को बरी करवा लिया था | हंस राज भारद्वाज तब क़ानून मंत्री हुआ करते थे | वह ताल ठोक कर कहते थे कि उन ने अपना काम कर दिया | सीबीआई ने तब हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीमकोर्ट में चुनौती देनी चाही थी | भले ही औपचारिकता के लिए ही चुनौती की बात कही थी | सीबीआई को पता था कि इजाजत कहाँ मिलनी है | हंस राज भारद्वाज ने न सिर्फ ईजाजत नहीं दी | अलबत्त…

और पढ़ें →
Published: 01.Feb.2018, 21:54

अजय सेतिया / अपन को पहले से अंदेशा था कि पहली फरवरी का दिन महत्वपूर्ण होगा | पर वह बजट के कारण नहीं होगा | बजट के किसानो की दशा सुधारने वाले क़दमों के कारण नहीं | न ही बजट के स्वास्थ्य और शिक्षा के दो सेक्टरों में बदलाव के कारण | अलबत्ता राजस्थान के तीन उपचुनावों के नतीजों के कारण | राजस्थान की दो लोकसभा सीटों पर उप चुनाव हुए थे | दोनों के नतीजे पहली फरवरी को आने थे | कोई हफ्ता भर पहले अपनी अशोक गहलोत से बात हुई थी | वह तीनों सीटें जीतने का दावा कर रहे थे | राजस्थान से ही कांग्रेस के सासंद नरेंद्र बुडानिया से भी बात हुई तो उन ने भी तीनों सीटें जीतने का दावा किया था | अपने पास राजस्थान से ग्राउंड रिपोर्ट भी मिलती जुलती थी | वसुंधरा राजे की शैली से तो भाजपा के वर्कर चार साल से खफा थे ही | साढे तीन साल से केंद्र की मोदी सरकार ने भी उन्हें निराश किया था | भाजपा के वर्कर मन से काम नहीं कर रहे थे | जिन जिन राज्यों में भाजपा की सरकारें हैं | वहां वहां के भाजपा वर्कर दुगने खफा हैं | अरुण जेटली जब लोकसभा में बजट भाषण पढ़ रहे थे | तब राजस्थान के नतीजे आने शुरू हो गए थे | भाजपा दोनों लोक…

और पढ़ें →
Published: 23.Jan.2018, 17:55

अपन फ़िल्म पद्मावत के उग्र विरोध के खिलाफ नहीं हैं | पद्मावती को पद्मावत कर के प्रसून जोशी खुद को धोखा दे सकते हैं | देश की हिन्दू जनता को नहीं | जिन के घर की हजारों औरतों ने विदेशी मुस्लिम हमलावरों के हाथों अपनी इज्जत बचाने के लिए जौहर किया | फिल्म में सभी किरदारों के नाम वही हैं | जो इतिहास में लिखे हैं | खिलजी भी है, पद्मावती भी है | फिल्म सेंसर बोर्ड और सुप्रीमकोर्ट हिन्दुओं को अपमानित करने की कोशिश कर रहे हैं | लगता है अंग्रेजों के हाथ से निकल कर भारत फिर मुगलों के चंगुल में फंस गया है | अंग्रेजों ने भारत का बंटवारा किया तो उसे कांग्रेस के नेताओं ने माना था | मुसलमानों को पाकिस्तान नाम से देश दे दिया गया | पर कांग्रेस ने हिन्दुओं का देश नहीं बनने दिया | उस पर हिन्दुओं को एतराज भी नहीं था | हिन्दुओं को आज भी एतराज नहीं | हिन्दू तो सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामया,सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्चिद् दुख भागभवेत " में विशवास रखते हैं | सो हिन्दू अपने संस्कारों से ही सेक्यूलर हैं | पर भारत के टुकड़े कर के दो मुस्लिम देश बना लेने के बावजूद मुस्लिम भारत में अपना…

और पढ़ें →