Current Analysis

Earlier known as राजनीति this column has been re-christened as हाल फिलहाल.

महाराष्ट्र में बजा भाजपा का डंका , शिवसेना को झटका

Publsihed: 23.Feb.2017, 18:48

महाराष्ट्र में 10 नगरपालिकाओं और 25 जिला परिषदों के साथ ही 283 पंचायत समितियों के चुनाव नतीजे घोषित कर दिए गए हैं। ये बीएमसी चुनाव बीजेपी के लिए बड़ी खुशखबरी लेकर आए हैं। बीएमसी में जहां बीजेपी की सीटों में तकरीबन तीन गुना इजाफा हुआ है वहीं उसने बाकी की 9 में से 8 महानगरपालिकाओं पर कब्जा जमा लिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विट कर के महाराष्ट्र की जनता का आभार जताया है |

मंगलवार को हुई वोटिंग में औसतन 56.40 फीसदी वोटिंग हुई थी। बीएमसी में वोटिंग का प्रतिशत 55.53 फीसदी दर्ज हुआ था। ये 25 सालों में सबसे ज्यादा मतदान है।

धर्मांतरण करवाने वाले आफिस में लगे ताले

Publsihed: 07.Feb.2017, 21:29

 दुनिया भर में ईसाई धर्मांतरण कराने वाली सबसे बड़ी अमेरिकी एजेंसी “कंपैशन” ने भारत में अपना ऑफिस और सारे ऑपरेशन बंद करने का एलान कर दिया है.

किशोर उपाध्याय को सलीके से पटकनी दी रावत ने

Publsihed: 24.Jan.2017, 03:53

किशोर आखिर ‘किशोर’ ही निकले ! आखिर हरीश रावत ने किशोर उपाध्याय को शह-मात के खेल में मात दे ही दी। किशोर को शायद इसका आभास तक न हो, लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं कि हरीश ने अपने मंसूबे तो पूरे किए ही साथ में कई शिकार भी एक साथ कर डाले।

स्मार्ट फोन बैन, पीएम की कोशिशो को पलीता

Publsihed: 14.Jan.2017, 11:25

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री की "न खाऊंगा,न खाने दूंगा" मुहिम को झटका लगा है. अर्धसेनिक बलो के जवानो का शोषण करने वाले अफसरो को संरक्षण देने के लिए सरकार सरकार ने अर्धसेनिक बलो के जवानो पर प्रतिबंद्ध लगा दिया है कि वे सोशल मीडिया पर कोई वीडियो लोड नहीं कर सकते. सूत्रो से खबर मिली है कि सेना के जवानो पर स्मार्ट फोन रखने पर ही रोक लगा दी गई है.

http://indiagatenews.com/indiagate-se13.01,17       पीएम जवानो को सुरक्षा की गारंटी देंगे क्या 

शाबाश सेनिको और अर्धसेनिक बलो के जवानो

Publsihed: 13.Jan.2017, 12:44

सेना और अर्धसेनिक बलो में बडे पैमाने पर चल रहे भ्रष्टाचार की सुगबुगाहट तो हमेशा से रही है. जहाँ जहाँ सेना की छावनिया हैं, वहा वहा पेट्रोल-डीजल तक बिकने की खबरे आती रही हैं. लेकिन सरकार ने सेना में चल रहे बडे पैमाने पर भ्रष्टाचार पर आंखे मूंदे रखी. यही कारण था कि शोषण का शिकार हो रहे जवान कभी सामने नहीं आए.

बीएसएफ के जवान का दावा झूठा नहीं

Publsihed: 11.Jan.2017, 12:48

बीएसएफ जवान तेज बहादुर ने अपने वीडियो में इस बात का दावा किया था कि सरकार राशन का पर्याप्त सामान भेजती है, स्टोर्स भरे पड़े हैं लेकिन अधिकारी सामान को सैनिकों तक नहीं पहुंचने देते और बाहर ही सामान बेच दिया जाता है.  मीडिया रिपोर्ट्स की गर मानें तो बीएसएफ कैंपों के आसपास रहने वाले लोगों का दावा है कि कुछ सैन्य अधिकारी उन्हें ईंधन और राशन का सामान मार्केट से आधे दाम पर बेचते हैं.

 

बीएसएफ ने छेडा चरित्र हनन अभियान

Publsihed: 10.Jan.2017, 10:52

नई दिल्ली।  बीएसएफ ने अपने उस जवान तेज बहादुर यादव का चरित्र हनन शुरु कर दिया है, जिस ने फेसबुक पर वीडियो जारी कर के जवानों का दर्द बयां किया था. इस वीडियो में कहा गया था कि अधिकारी सरकार की ओर से भेजे गए राशन तक को बाज़ार में बेच देते हैं और जवानो को भर पेट अच्छा भोजन तक नहीं दिया जाता. इस जवान को उम्मींद थी कि न खाऊंगा, न खाने दूंगा का नारा देने वाले प्रधानमंत्री इस वीडियो के बाद बरसो से चले आ रहे सेना और अर्ध सेना के भ्रष्टाचार पर भी कमर तोड प्रहार कर देंगे.

आरबीआई गवर्नर की पेशी ने रचा इतिहास

Publsihed: 09.Jan.2017, 21:54

नई दिल्ली। आरबीआई गवर्नर को नोटबंदी पर संसद भवन में तलब कर के लोक लेखा समिति (पीएसी) ने इतिहास बना दिया है. इस से पहले हर्षद मेहता के घोटाले के समय भी यह मौका आया था, जब वित्त मंत्रालय की समिति ने रिजर्व बैंक के गवर्नर को तलब करना तय किया था. तब मनमोहन सिंह ने दलील दी थी कि यह परम्परा के उलट होगा. मनमोहन सिंह के आग्रह पर कमेटी की बैठक मुम्बई में की गई थी, जहाँ तत्कालिन आरबीआई गवर्नर कमेटी के सामने पेश हुए थे.

दफ्तर पर ताला जड कर दिल्ली आए मुलायम हुए नरम

Publsihed: 08.Jan.2017, 20:22

दिल्ली। लखनऊ के सपा मुख्यालय में अपना ताला जड कर दिल्ली पहुंचे मुलायम सिंह यादव कुछ नरम दिखाई दिए. हालांकि कल चुनाव आयोग जा कर साईकिल पर दावा ठोकने की बात पर अभी भी कायम दिखे. एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रामगोपाल की ओर से पार्टी अधिवेशन बुलाने को असंवैधानिक करार दिया. मुलायम सिंह ने कहा कि वह समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष हैं और अखिलेश यादव मुख्यमंत्री.

रामगोपाल कौन थे अधिवेशन बुलाने वाले  

जातीय समीकरणो में सब पर भारी मायावती

Publsihed: 06.Jan.2017, 20:25

बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने तुरुप पत्ते खोल दिए हंै। इससे अमित शाह व अखिलेश यादव दोनों को भौचक होना चाहिए। इसलिए कि ये पत्ते दोनों की काट लिए हुए है। एक तरफ उन्होंने मुस्लिम वोटों को विकल्प दिया है तो दूसरी और ब्राह्मण व ऊंची जातियों को भी!