जेएनयू में आपातकाल कहने वालों का सच

Publsihed: 19.Nov.2019, 23:31

छात्रों के नारे देख कर कोई भी अनुमान लगा सकता है कि होस्टल की फीस वृद्धि तो एक बहाना है , छात्रों को मोदी सरकार के खिलाफ संसद घेरने के लिए इस्तेमाल किया गया | एक टीवी बहस में वामपंथी प्रतिनिधि इफरा ने दो टूक शब्दों में कह दिया कि दिल्ली की सडकों पर छात्रों का गुस्सा असल में 370 हटाए जाने के खिलाफ है |