किसान आंदोलन में मीडिया की भूमिका

Publsihed: 31.Dec.2020, 13:00

अजय सेतिया / ये जाने पहचाने पत्रकार हैं , जो बड़े बड़े मीडिया घरानों में काम करते हैं | वे अपनी विचारधारा के सम्पादकों की बदौलत नौकरी पा लेते हैं और फिर एक ही तरह की खबरें लिखते और बोलते हैं , उन के लिए उन की विचारधारा ही सर्वोच्च है , उन की विचारधारा विरोधी सरकार के खिलाफ कोई आन्दोलन कर रहा हो , तो वही उन के लिए खबर का असली मौक़ा होता है | फिर वे सही गलत नहीं देखते , सच झूठ नहीं देखते , तर्क कुतर्क नहीं देखते , बस आन्दोलन को हवा देना ही उन की पत्रकारिता का धर्म है| जो भारत तेरे टुकड़े होंगे इंशा अल्लाह इंशा अल्

राजनीतिक ब्लैकमेलिंग पर उतरे संजय राऊत

Publsihed: 28.Dec.2020, 21:45

अजय सेतिया शिवसेना ने प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी के मुम्बई स्थित कार्यालय पर प्रदेश भाजपा कार्यालय का बैनर लगा दिया है | कारण यह

कैलाश सत्यार्थी नए शब्‍दों वाले कवि हैं:  लीलाधर जगूड़ी

Publsihed: 25.Dec.2020, 22:16

अनिल पांडेय / बच्‍चों के लिए नोबेल शांति पुरस्‍कार प्राप्ति की छठी वर्षगांठ के अवसर पर कैलाश सत्‍यार्थी के नए कविता संग्रह ‘‘चलो हवाओं का रुख मोड़ें’’ के आवरण पृष्‍ठ का ऑनलाइन लोकार्पण किया गया। वाणी प्रकाशन द्वारा प्रकाशित कविता संग्रह के आवरण पृष्ठ का लोकार्पण वरिष्‍ठ रचनाकारों और साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित पद्मश्री लीलाधर जगूड़ी और पदमश्री उषा किरण खान एवं वाणी प्रकाशन के प्रबंध निदेशक अरुण माहेश्‍वरी ने किया। लोकार्पण समारोह में चर्चित गीतकार-कवि कुमार विश्‍वास की भी गरिमामयी उपस्थिति रही। समारोह का आयोजन वाणी डिजिटल ने किया, जबकि संचालन कवि-कलाविद्-आलोचक यतीन्‍द्र मिश्र ने किय