India Gate Se

Exclusive Articles written by Ajay Setia

काशी में गुंडई पर उतरे छात्रों और पुलिस में कोई फर्क नहीं 

Publsihed: 26.Sep.2017, 21:34

अजय सेतिया / पीएम नरेंद्र मोदी का चुनावी हल्का जंग का नया मैदान बना है | जंग-ए-मैदान भी तब बनाया गया , जब मोदी खुद अपने हल्के में थे | बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में लड़कियों से छेड़छाड़ को वीसी नहीं रोक पाए | घटना रात को हुई थी | अपन इस पर आगे तपसरा करें, उस से पहले घटना को समझ लें | बात बीते गुरूवार रात की है | बिड़ला होस्टल के कुछ छात्रों ने हॉस्टल के बगल से जा रही लड़कियों के साथ छेड़खानी की | तो लड़कियों ने विरोध किया | हैरानी की बात थी कि उन लड़कियों को 50-60 लड़कों ने घेर लिया | लड़कियों के साथ भद्दी हरकतें की गई | गाली-गलौज किया गया | | वे रोने लगीं, लेकिन वहां से हटी नहीं

पाकिस्तान नहीं, टेररस्तान कहिए जनाब  ajaysetia 23.Sep.2017, 00:17

सैम पित्रोदा ने संभाल ली राहुल की रणनीतिक कमान  ajaysetia 21.Sep.2017, 13:50

सैम पित्रोदा ने भारत में घर घर टेलीफोन पहुंचा दिया था | यों तो कम्प्यूटर पहले ही देश में आ चुका था | पर सैम पित्रोदा भारत में बड़े पैमाने पर कम्प्यूटर लेकर आए | इस लिए वही भारत में कम्प्यूटरीकरण के जनक माने जाते हैं | क्रेडिट भले ही राजीव गांधी को दिया जाता है | राजीव गांधी की जितनी भी सफलताएं थी , उस के पीछे पित्रोदा का दिमाग था | उन्हीं सैम पित्रोदा ने अब राहुल गांधी की कमान सम्भाल ली है | राहुल गांधी के अमेरिका दौरे के वही सूत्रधार हैं | मिलिंद देवड़ा उन के सहायक की भूमिका में हैं | भारत का एक अंगरेजी न्यूज चैनल कांग्रेस का करीबी है | हालांकि मोदी सरकार आने के बाद वह चेनेल संकट में है | टे

राजनीतिक उथल-पुथल और दाऊद के भाई की गिरफ्तारी  ajaysetia 19.Sep.2017, 23:15

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम फिर चर्चा में है | अब खबर यह है कि भले ही वह पाकिस्तान में रह रहा है | पर मुम्बई में जबरन वसूली का उस का धंधा अभी भी चल रहा है | उसका भाई इकबाल कासकर धंधा देख रहा है | जबरन वसूली यानि एक्स्टार्शन  की एक शिकायत पर इकबाल कासकर को गिरफ्तार किया गया है | अपन को गिरफ्तारी के मुद्दे को लेकर थोड़ा शक है | शक की एक वजह है 2015 की घटना | इकबाल कासकर को हूँ-ब-हूँ जबरन वसूली के मामले में ही पहले भी गिरफ्तार किया गया था | पर पुलिस अदालत में साबित नहीं कर पाई | यहाँ तक कि इकबाल कासकर को जब 2003 में दुबई से प्रत्यार्पित किया गया था | और भारत लाने  के बाद उस पर सारा स

रोहिंग्या मुसलमानों को वोट बैंक बनाने की साजिश   ajaysetia 18.Sep.2017, 20:47

रोहिंग्या को बसाने का कलंक नहीं लेंगे मोदी | यह अपन ने 15 सितम्बर को लिखा था | हूँ-ब-हूँ वही होता दिख रहा है | अपन ने तब उस हल्फिया बयान का जिक्र किया था | जो रोहिंग्या मुसलमानों की घुसपैठ के सिलसिले में सुप्रीम कोर्ट में दाखिल होना था | चौदह सितम्बर को हल्फिया बयान दाखिल नहीं हो पाया था | सोमवार को दाखिल किया , तो उम्मींद के मुताबिक़ ही था | अलबत्ता जो अपन ने उस दिन लिखा था उस से भी कड़े तेवरों वाला हल्फिया बयान | जो भी इन रोहिंग्या मुसलमानों की अमानवीय हरकतों को पढ़ चुका है | वह कभी इन अमानवीय लोगों के मानवाधिकारों की पैरवी नहीं करेगा | म्यांमार में बोद्धों ने बहुत सब्र किया | अब बौद्ध भिक्ष

खट्टर का पुलिस से भरोसा उठा , जांच सीबीआई को 

Publsihed: 15.Sep.2017, 23:45

वैसे तो अपना शक शुरू से था | पर अब अपना शक और मजबूत हो गया है | शक यह है कि पुलिस ने रेयान स्कूल में बच्चे की हत्या की गुत्थी सुलझाई नहीं | अलबत्ता गुत्थी उलझाई है | हरियाणा पुलिस हमेशा की तरह शातिर साबित हुई है | अपनी पीठ थपथपाने के लिए तीन लोगों के साथ अमानवीय अत्याचार किए गए थे | बस ड्राईवर सौरभ, बस कंडक्टर अशोक और गार्डनर हरपाल सिंह | सभी को डराया धमकाया गया कि वे हत्या का अपराध कबूल करें | अशोक के कपड़ों पर खून के निशान थे | जब कोई भी टीचर बच्चे को हाथ लगाने को तैयार नहीं थी | टीचर बच्चे की खून से लथपथ पानी की बोतल भी बच्चों से साफ़ करवा रहीं थी | प्रद्युम्न की कक्षा में पढ़ने वाले छात्र

रोहिंग्या को बसाने का कलंक नहीं लेंगे मोदी 

Publsihed: 14.Sep.2017, 23:32

मोदी सरकार बधाई की पात्र है | वह संयुक्त राष्ट्र की ब्लैकमेलिंग के दबाव में नहीं आयी | जेएनयू  ब्रिगेड और सेक्यूलरिज्म ब्रिगेड के दबाव में भी नहीं आई | कश्मीरी आतंकियों और नक्सलियों के हमदर्द प्रशांत भूषण के दबाव में भी नहीं आई | मोदी सरकार ने सुप्रीमकोर्ट को भी कह दिया कि वह रोहिंग्य मुसलमानों के मामले में दखल न दे | प्रशांत भूषण ने रोहिंग्या मुसलमानों के पक्ष में सुप्रीमकोर्ट में अलख जगाई हुई है | वह नक्सलियों और आतंकियों के पक्ष में भी अदालत जाते रहते हैं | मोदी सरकार ने अदालत से कहा कि रोहिंग्या भारत में नहीं रह सकते | रोहिंग्या देश की सुरक्षा के लिए खतरा हैं | कुछ रोहिंग्या आतंकी

जीएसटी लगता तो 44 रूपए लीटर होता पेट्रोल  ajaysetia 14.Sep.2017, 04:51

नरेंद्र मोदी के दो भाषणों की वीडियो टेप सोशल मीडिया में चर्चित हैं | पहली वीडियो टेप लोकसभा चुनाव से पहले की है | जिसमें वह पेट्रोल की कीमतें बढ़ने को मनमोहन सरकार की नाकामी का सबूत बता रहे हैं | मोदी ने 26 मई को पीएम पद की शपथ ली थी | तो दिल्ली में पेट्रोल 71.41 रुपये प्रति लीटर  था | डीजल 56.71 रुपये प्रति लीटर था | मोदी का नसीब अच्छा था जो उन के पीएम बनने  के बाद अंतर्राष्ट्रीय मार्केट में तेल की कीमतें घट गई | तो भारत में भी कीमतें घटीं थी | दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 58.91 रुपये हो गई थी | और डीजल 48.26 रुपए प्रति लीटर हो गया था | जिस का सेहरा मोदी ने अपने सिर पर बांधा था | मो

कन्फ्यूज्ड राहुल परिवारवाद पर आ कर अटके  ajaysetia 12.Sep.2017, 20:40

जब सारा मुल्क परिवारवाद से चल रहा है | मुलायम सिंह के पुत्र अखिलेश यादव भी तो सीएम बने | एम करुणानिधि के पुत्र एमके स्टालिन भी तो उनके वारिस हैं | अभिषेक बच्चन भी तो अमिताभ बच्चन के पुत्र हैं | मुकेश व अनिल अंबानी भी तो  धीरूभाई अंबानी के पुत्र हैं | " भारत इसी तरह चलता है | भारत इसी तरह काम करता है...

रेयान पिंटो जेजे एक्ट में गिरफ्तार होंगे या नहीं ajaysetia 12.Sep.2017, 00:24

अजय सेतिया / भारत में बच्चे असुरक्षित हो गए | हर दिन कहीं न कहीं से बच्चे के यौन शोषण की खबर आती है | हर रोज किसी न किसी बच्चे की हत्या होती है | आए दिन बच्चों  के साथ क्रूरता की खबर आती है | गुडगाँव में जिस  रेयान स्कूल में बच्चे का यौन शोषण हुआ | उस की देश भर में 120 ब्रांचे हैं | इस समूह के स्कूलों में दो लाख बच्चे पढ़ते हैं | एक बच्चे की महीने की फीस औसतन एक हजार रुपए भी मानी जाए | तो महीने में स्कूल के पास 2 अरब रुपए जुड़ते हैं | स्टॉफ की सेलेरी और अन्य खर्चों पर महीने में डेढ़ अरब रुपए का भी खर्च आता हो | तो भी  रेयान का मालिक हर महीने पचास करोड़ रुपए क