India Gate Se

Exclusive Articles written by Ajay Setia

लोकतंत्र को कमजोर करने वाला चौथा खम्भा 

Publsihed: 28.Mar.2017, 23:07

 विजुअल मीडिया का एक वर्ग खुद को सुपर सुप्रीम कोर्ट समझने लगा है | करीब एक दशक पहले शरद यादव ने संसद को सावधान किया था | सोमनाथ चटर्जी तब लोकसभा स्पीकर थे | मनमोहन सिंह की लुंज पुंज सरकार थी |  एक चेनल के एडिटर-एंकर की ओर से रोज रात 9 बजे सांसदों को गालियाँ दी जा रही थीं | शरद यादव ने संसद को आगाह किया था-" इसे रोकना होगा, वह रोज रात नों बजे सांसदों का अपमान करता है |"  पर सोमनाथ चटर्जी ने इस पर गौर नहीं किया |  वह अनार्की फैलाने वाली कौम से ताल्लुक रखते थे | पर बाद में चटर्जी ने सांसदों को खरीदने वाली कांग्रेस सरकार बचाई | अनार्की फैलाने वाली कौम ने उन्हें निकाल बाहर कि

गवाहों की सूची देख बिदक गई सोनिया गांधी 

Publsihed: 26.Mar.2017, 00:04

नेशनल हेराल्ड केस तो आप को याद होगा | संसद का दिसम्बर 2016 का शीत सत्र नेशनल हेराल्ड की भेंट चढ़ गया था | जिस जीएसटी बिल को अरूण जेटली अब पास करवा रहे हैं | वह शीत सत्र में ही पास हो जाता | अप्रेल 2017 से जीएसटी लागू हो जाता | भुत बड़ा टेक्स रिफार्म हो गया होता | पर कांग्रेस ने शीत सत्र नही चलने दिया था | कारण यह था कि सुब्रहमन्यम स्वामी नेशनल हेराल्ड का एक केस कोर्ट में ले गए हैं | केस में सोनिया गांधी, राहुल गांधी, मोती  लाल वोरा और आस्कर फर्नाडिस पर फ्राड का मामला है | चरों को अदालत में जा कर जमानत लेनी पडी थी | चरों जमानत पर छूटे हुए हैं | अब जब यूपी में चारों खाने चित्त होने के बाद

योगी ने दिखाया सुशासन का रास्ता 

Publsihed: 24.Mar.2017, 22:32

बीजेपी ने योगी आदित्यनाथ को यूपी का सीएम बना कर दो काम किए | एक तो अपने हिन्दू वोट बैंक को मजबूत कर लिया | दूसरे सेक्यूलर ब्रिगेड के जख्मों पर नमक छिड़क दिया  | जनादेश इतना प्रचंड न होता  | तो मीडिया में बैठा सेक्यूलर हल्ला ब्रिगेड हंगामा खडा कर चुका होता | आदित्य नाथ ने लोकसभा में अपने आख़िरी भाषण में अपना एजेंडा बता दिया था | दो टूक शब्दों में बता दिया था कि वह क्या करने जा रहे हैं | उनने कहा-"उत्तरप्रदेश में बहुत कुछ 'बंदी' होने जा रहा है |" उन के इस भाषण से पहले ही बूचडखानों की बंदी शुरू हो चुकी थी | लोकसभा में मुस्लिम सांसद बूचड़खानों की बंदी पर तिलमिलाए हुए थे | पर आदित्यनाथ ने

आयोग ने निकाली ईवीएम विरोधी ब्रिगेड की हवा 

Publsihed: 17.Mar.2017, 07:33

गैर कांग्रेस दलों का गठबंधन शुरू हो चुका | गठबंधन का मुद्दा भले ही वोटिंग मशीने बनी हों | पर समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी एक मंच पर आ गए हैं | यह एक बड़ी एतिहासिक घटना है | मायावती ने रिजल्ट वाले दिन ही मशीनों पर सवाल उठा दिया था | अखिलेश यादव ने तुरंत  कहा कि अगर यह सवाल उठा है, तो जांच होनी चाहिए |कांग्रेस के अजय माकन ने दिल्ली नगर निगम के चुनाव बेलेट पेपर से करवाने की मांग रख  दी | इधर यानि कांग्रेस ने भी वोटिंग मशीन पर सवाल उठा दिया |  तो केजरीवाल को भी पंजाब की हार की वजह मशीने लगाने लगा  | जैसे ही केजरीवाल ने पंजाब में वोटिंग मशीनों पर सवाल उठाया | कांग्रेस

कोर्ट में हारी कांग्रेस लोकसभा में रोई 

Publsihed: 14.Mar.2017, 21:28

राहुल गांधी ने मान लिया है कि पंजाब में उनके कारण नहीं जीती कांग्रेस | साथ में यह भी कह दिया कि उत्तराखंड में मेरे कारण नहीं हारी कांग्रेस | यानि पंजाब में अमरेन्द्र सिंह ने पार्टी को जिताया | उत्तराखंड में पार्टी हरीश रावत के कारण हारी | अब अमरेन्द्र सिंह को ताज मिलेगा और हरीश रावत को बनवास | पर उत्तरप्रदेश का ठीकरा किस के सर फूटना चाहिए | अपन कुछ नहीं कह रहे | आप खुद अंदाजा लगाईए | वहां दो लडके प्रचार की जिम्मेदारी संभाले थे | पर सवाल यूपी,उत्तराखंड और पंजाब का है ही नहीं | इन तीनों राज्यों में तो जनता ने स्पष्ट बहुमत दे दिया था | अब असली राजनीतिक झगड़ा गोवा और मणिपुर का | जहां जनता ने किस

गोवा-मणिपुर में डेमोक्रेसी की ह्त्या 

Publsihed: 13.Mar.2017, 21:20

गोवा में भी बीजेपी की सरकार बन गई | अलबता उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड से पहले बन गई | उत्तराखंड और  उत्तरप्रदेश में तो दो अनार, सौ बीमार हैं | गोवा में अनार था ही नहीं, बीमार कौन होता | जिन्होंने अनार दिया, उन्हीं ने बीमार भी बता दिया | असल में 40 के सदन में भाजपा को सिर्फ 13 सीटें मिली | जबकि कांग्रेस को 17 सीटें मिली | पर बीजेपी को 32.5 फीसदी वोट मिले | जबकि कांग्रेस को 28.4 फीसदी वोट मिले | भाजपा को सीटें तो 4 कम मिली, पर वोट 4 फीसदी ज्यादा मिले | बाकी की दस सीटें बंट गई | तीन महाराष्ट्रवादी गोमान्तक पार्टी को, तीन गोवा फारवर्ड पार्टी को ,एक एनसीपी को और तीन निर्दलीय | त्रिशंकू जनादेश

चुनाव नतीजे : मेरा देश बदल रहा है 

Publsihed: 11.Mar.2017, 22:25

उत्तर प्रदेश और पंजाब के चुनाव नतीजे बहुत कुछ कहते हैं | देश की राजनीति नई करवट ले चुकी है | हमें उत्तराखंड , गोवा, पजाब और मणिपुर के चुनाव नतीजों को अलग ढंग से देखना होगा | जब कि उत्तरप्रदेश के नतीजों को अलग नजर से देखना होगा | पंजाब और उत्तराखंड की सरकारें बहुत बदनाम हो चुकी थीं | इन दोनों राज्यों की सरकारों से जनता का मोह भंग था | पंजाब में क्योंकि भाजपा खुद सरकार का हिस्सा थी, इस लिए उसे भी जनता के गुस्से का शिकार होना पडा | भाजपा, जैसा कि सोच रही थी, अगर एक साल पहले अकाली दल से अलग हो जाती, तो वह इन चुनावों में भी उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की तरह एक बड़ी ताकत बन कर उभरती | आम आदमी

यूपी हो ही नहीं सकता था बिहार 

Publsihed: 09.Mar.2017, 22:42

वैसे अभी नतीजे नहीं निकले | पर एग्जिट पोल के संकेत साफ़ हैं | उत्तराखंड, गोवा, मणिपुर ,यूपी में बीजेपी आगे | उत्तराखंड में चाणक्य ने तो बीजेपी को 53 सीटें बता कर कांग्रेस का सूपड़ा ही साफ़ कर दिया | एक्सिस ने बीजेपी को 49 सीटें बताई हैं | टाईम्स नाऊ-वीएमआर  ने बीजेपी को उत्तराखंड में 38 सीटें दी हैं | सी वोटर के कुछ समझ नहीं आया , तो उस ने बीजेपी-कांग्रेस को 29 से 35 के बीच खुला छोड़ दिया | पर अपना आकलन साफ़ है - बीजेपी सत्ता या सत्ता के करीब होगी ,कांग्रेस कम से कम 7-8 सीटें पीछे | पजाब में कांग्रेस | हालांकि एमआरसी ने "आप" और कांग्रेस को बराबरी पर 55-55 बता कर त्रिशंकू नतीजे बताए हैं | सी

हिन्दू आतंकवाद थ्योरी की हवा निकलने लगी 

Publsihed: 08.Mar.2017, 21:03

अजमेर शरीफ के ब्लास्ट का पहला नतीजा आ गया है | नेशनल इन्वेस्टिगेटिव एजेंसी की अदालत में पहला फैसला आ गया | यूपीए सरकार ने अजमेर शरीफ, मालेगांव, मक्का मस्जिद , समझौता एक्सप्रेस विस्फोटों को हिन्दू आतंकवाद बताया था | चारों आतंकवादी वारदातों के तार एक दूसरे से जोड़े थे | स्वामी असीमानंद तीनो वारदातों में मुख्य अभियुक्त बनाए गए थे | हिन्दू या भगवा आतंकवाद का पहला जुमला जयपुर में फैंका गया था | जयपुर में कांग्रेस का अधिवेशन था | तब सुशील कुमार शिंदे देश के गृह मंत्री थे | शिंदे ने कहा-" गृहमंत्रालय की जांच में निकला है कि आरएसएस और भाजपा के ट्रेनिंग केम्पों में हिन्दू आतंकवाद की ट्रेनिंग दी जा रह

मुठभेड़ को बाटला हाऊस की तरह फर्जी मत बताना 

Publsihed: 07.Mar.2017, 21:53

क्या भारत में बम धमाकों का चुनावों से कोई सम्बन्ध है | चुनावों के समय बम धमाके होते रहे हैं | जब से नरेंद्र मोदी आए हैं, तब से तो सम्बन्ध बन ही गया | वैसे तो मध्यप्रदेश में अपन कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव में भी बमबाजी देख चुके हैं | नरेंद्र मोदी जब अक्टूबर 2013 में पटना रैली करने गए तो धमाके हुए | सात धमाकों में 6 लोग मरे थे | अब जब यूपी के आख़िरी दौर का चुनाव है | तो मध्य प्रदेश में ट्रेन को बम से उड़ाने की कोशिश हुई | पर मध्यप्रदेश के ट्रेन बम धमाकों का यूपी से सीधा रिश्ता पाया गया है | । मध्य प्रदेश शाजापुर में मंगलवार सुबह ट्रेन में बम फटा |  भोपाल-उज्जैन पैसेंजर उज्जैन की तरफ जा रही