Politicking

Indian Politics based articles

मोदी भाजपा मीटिंग में उरी पर बोले ही नही.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के बाद भाजपा की तीन दिवसीय राष्ट्रीय परिषद समाप्त हो गई. कल जनसभा में उरी और नवाज शरीफ पर कडा रुख अपनाने वाले प्रधानमन्त्री के आज के भाषण पर देश की निगाह टिकी हुई थी, लेकिन उन्होने उरी की घटना और पाकिस्तान की ओर से भारत में की जा रही आतंकी घटनाओ का जिक्र तक नहीं किया, उन का सारा भाषण प्न्डित दीन दयाल उपाध्याय जन्मशति के इर्दगिर्द ही रहा.

दीन दयाल उपाध्याय शती में विकास

लखनऊ की सडको पर उतरे राहुल

कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शुक्रवार को अपने रोड शो के दौरान युवाओ के सीधे सम्पर्क स्थापित करने की कोशिश की. बातचीत में उन्होने मोदी सरकार के वादो पर सवाल किये और उनसे पूछा कि क्या मोदी ने अपने वायदे पूरे किए. तेलीबाग से निकलते समय राहुल गांधी ने सरफराज नामक युवक से पूछा की मोदी जी ने दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने की बात कही थी क्या आपको रोजगार मिला?

जवाबी कार्रवाई का इंतजार करे : भाजपा

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने शुक्रवार को कहा कि सरकार उड़ी आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान को अलग-थलग करने के लिए कूटनीतिक मोर्चे पर बहुत कुछ कर रही है और यह कार्रवाई आने वाले दिनों में भी जारी रहेगी। संवाददाता सम्मेलन में भाजपा महासचिव राम माधव ने कहा कि बीते तीन दिनों में, कूटनीतिक मोर्चे पर बहुत कुछ घटित हुआ है और इसे आपने भी देखा है। आपने परिणाम भी देखे हैं। एक पत्रकार के सवाल पर कि सत्ता में आने पर पाकिस्तान के खिलाफ भाजपा के सुर बदल गए हैं, राम माधव ने कहा, “आपको बयान चाहिए या कार्रवाई?

अखिलेश संसदीय बोर्ड के चेयरमैंन

चाचा भतीजे में विवाद खत्म करने के लिए मुलायम सिंघ ने जहाँ चाचा को प्रदेश सपा का अध्यक्ष बने रहने दिया वहाँ चाचा शिवपाल को सारे विभाग भी दिला दिए, लेकिन चुनाव में टिकट बांटने के अधिकार सम्बधी अखिलेश की मांग के आगे झुकते हुए अखिलेश को संसदीय बोर्ड का चेयरमैंन बना दिया है. वहीं पता चला है कि अखिलेश ने चाचा शिवपाल से पीडब्‍ल्‍यूडी विभाग छीन लिया है।जबकि चिकित्सा और आयुष मंत्रालय चाचा शिवपाल यादव को दिया है। विवाद बढ़ने के साथ अखिलेश ने पीडब्‍ल्‍यूडी समेत तीन अहम मंत्रालय शिवपाल से वापस ले लिए थे।

राहुल घूम रहे मंदिर मंदिर, द्वारे द्वारे

कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी यूपी की अपनी खाट यात्रा के दौरान आज कल मंदिर मंदिर द्वारे द्वारे घूम रहे हैं. चित्रकूट पन्हुचे राहुल गांधी सबसे पहले कामतानाथ मंदिर गए। वहां उन्होंने महंत राम स्वरूपाचार्य और पुजारी मदन दास ने मुलाकात की और विधिवत दर्शन-पूजन कर दर्शन किए।

रामगोपाल ने की अखिलेश की पैरवी,अमर सिंह पर हमला

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव गुरुवार को लखनऊ पहुंचे। उन्होंने यूपी सरकार के भीतर मचे आपस के झगड़े को लेकर सफाई दी। रामगोपाल ने माना कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाकर पार्टी ने बड़ी गलती की। अखिलेश से खुद इस्तीफा दिलवाना चाहिए था। यहां गुरुवार को वीवीआईपी गेस्ट हाउस में संवाददाताओं से बातचीत में रामगोपाल ने पिछले तीने दिनों से चल रहे सियासी घटनाक्रम पर सफाई दी।

अखिलेश के खिलाफ खडे हुए चाचा शिवपाल

शिव पाल यादव ने कहा है कि अभी तो अखिलेश यादव मुख्यमंत्री हैं, लेकिन आगे कोन हो यह नेता जी यानी मुलायम सिन्ह यादव को तय करना है. आज भीड भरी प्रेस काफ्रेंस में शिवपाल ने इशारो ही इशारो में मुख्यमत्री अखिलेश यादव पर हमले किए. उन्होने कहा कि अखिलेश यादव ने नेता जी से सलाह लिए बिना ही उन से कुछ विभाग लिए हैं. उन्होने कहा कि उन्हे नेता जी ने अब पार्टी की ज्यादा महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी है. अब चुनाव आ गए हैं. पहला काम दुबारा से सरकार बनाना है. जब उनसे पूछ गया कि क्या मुख्य्मंत्री बदला जाना चाहिए तो उन्होने कहा कि यह निर्णय नेता जी को करना है.

केशव प्रसाद मौर्य के मुलायम और अखिलेश से 5 सवाल

बाप-बेटे-चाचा-भतीजे की लडाई में कूदी भाजपा. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष केशव प्रशाद मौर्य ने पूछे 5 सवाल. मायावती भी कूदी. बताया परिवार की नौटंकी. मौर्य के 5 सवाल निम्न हैं.

जाकिर नाईक ने गांधी परिवार को 50 लाख की रिश्वत दी

भाजपा ने कहा है कि इस्लामिक धर्मगुरु जाकिर नाइक ने यूपीए सरकार से प्रश्र्य पाने के लिए राजीव गांधी फाऊंडेशन को 50 लाख रुपए की रिश्वत दी थी. नाईक के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन ने शुक्रवार (9 सितंबर) को खुलासा किया था कि 2011 में इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन ने राजीव गांधी फाउंडेशन  को 50 लाख रुपए की डोनेशन दी थी। हालांकि, कांग्रेस का कहना है कि अनुदान राशि आरजीएफ की अनुषंगी संस्था राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट (आरजीसीटी) को दी गई थी, लेकिन कुछ महीने पहले ही इस राशि को इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन को लौटा दिया गया है !

दिल्ली विश्व् विध्यालय में एबीवीपी का परचम

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में एक बार फिर एबीवीपी का डंका बजा। छात्रसंघ चुनाव में प्रमुख पदों पर एबीवीपी के प्रत्याशियों ने अपनी जीत दर्ज की। अध्यक्ष पद पर एबीवीपी के अमित तंवर, उपाध्यक्ष पद पर प्रियंका छाबरी और सचिव पद पद अंकित सांगवान विजयी रहे हैं। एनएसयूआइ को करारी हार मिली। इस चुनाव में उसे संयुक्त सचिव सीट से संतोष करना पड़ा। मोहित सांगवान संयुक्त सचिव की सीट पर विजयी रहे हैं।