India Gate Se

Exclusive Articles written by Ajay Setia

संसद सत्र और लोकतंत्र के प्रति आस्था 

Publsihed: 25.Nov.2017, 01:00

अजय सेतिया / कांग्रेस ने खफा हो कर राष्ट्रपति को शिकायत भेज दी | शिकायत है कि संसद का शीत सत्र क्यों नहीं बुलाया गया | इस पेचीदा सवाल पर मोदी सरकार के मंत्री भी बेजुबान हुए पड़े हैं | संसद का शीतकालीन सत्र आम तौर पर नवंबर के तीसरे हफ्ते में शुरू होता था | दिसंबर के तीसरे हफ्ते क्रिसमस तक चलता था | आज़ादी के बाद के पहले तीन दशक तक संसद साल में सवा दिन तक चलती थी | संसद में जब भुत हंगामें होने लगे | संसद का काम भी हंगामें में प्रभावित होने लगा तो नरसिम्हा राव ने 1993 में कमेटी सिस्टम लागू किया | इस के बावजूद संसद की गरिमा को बरकरार रखा गया | पर हंगामों के कारण सत्र सिकुड़ता गया

कैसी होगी राहुल गांधी की संगठन टीम 

Publsihed: 23.Nov.2017, 22:23

अजय सेतिया / गुजरात विधानसभा चुनाव के फौरन बाद राहुल गांधी कांग्रेस की कमान सम्भाल लेंगे | गुजरात की हार, जीत से इस का कुछ लेना देना नहीं | राहुल गांधी ने पार्टी को खडा करना शुरू कर दिया है | गुजरात में अशोक गहलोत को जिम्मेदारी देना उसी कड़ी का कदम है | हालांकि अहमद पटेल इस चुनाव में कहीं दिखाई नहीं दे रहे | पर इस का मतलब यह नहीं कि वह राहुल की टीम से बाहर हो रहे हैं | वह राहुल की टीम में भी बने रहेंगे | गुजरात में अहमद पटेल को जानबूझ कर परदे के पीछे किया गया है | अल्पसंख्यकों को साधने का एजेंडा पादरियों-मुल्लाओं को दे दिया गया है | गांधीनगर चर्च के आर्कबिशप  राष्ट्रीय ताकतों के खिलाफ व

अयोध्या के विवाद पर श्रीश्री रवि शंकर की पहल

Publsihed: 17.Nov.2017, 23:04

अजय सेतिया / अपना मत है कि अयोध्या विवाद बातचीत से हल नहीं होगा | अपना यह भी मानना है कि अदालत भी कोई फैसला नहीं करेगी | कोर्ट मस्जिद के पक्ष में फैसला कर नहीं सकती | क्योंकि खुदाई में मंदिर के सबूत मिल चुके हैं | जो कोर्ट में जमा हैं | पर मंदिर के पक्ष में फैसला करने से डर रही है | उसे डर है कि मुसलमान कहीं दंगे न कर दें | मुसलमान अल्पसंख्यकों के खिलाफ होने का आरोप ही न लगा दें | वैसे इस आरोप से कोर्ट को कोई फर्क नहीं पड़ता | अपने फैसले को सही ठहराने के लिए कोर्ट के पास सबूत हैं | पर मुस्लिम वक्फ बोर्ड किसी अन्तर्राष्ट्रीय फॉर्म पर चला गया | तो दुनिया भर में मुफ्त में बदनाम

रानी पद्मनी और जौहर को नकारने की जिद्द 

Publsihed: 16.Nov.2017, 23:39

अजय सेतिया / आखिर संजय लीला भंसाली ने राजपूत करणी सेना के सामने घुटने टेक दिए | खबर है कि वह राजपूत समाज को पहले फिल्म दिखाने को राजी हो गए | यह उनने सेंसर बोर्ड को लिख कर दे दिया है | अब अपन को लगता है कि फिल्म में आपत्तिजनक सीन नहीं होंगे | या फिर आपत्तिजनक सीन को हटाने को तैयार हो गए हैं | जो लोग इस विवाद में फिल्मकारों की स्वतन्त्रता का रोना रो रहे थे | उन से अपन सहमत नहीं | आज़ादी का मतलब इतिहास से छेड़छाड़ का हक नहीं हो सकता | फिल्मकार कह रहे थे - यह इतिहास नहीं, फिक्शन है , यानी काल्पनिक कहानी है | अगर यह काल्पनिक कहानी है, तो आप ने फिल्म का नाम पद्मावती क्यों रखा | आप

आपरेशन बेनामी सम्पत्ति शुरू 

Publsihed: 16.Nov.2017, 01:00

अजय सेतिया / नोटबंदी से भी बड़ा आपरेशन शुरू हो चुका है | पर नरेंद्र मोदी ने इस बार प्रचार नहीं किया | अलबत्ता कोई एलान भी नहीं किया | रेडियो या टीवी से सीधा प्रसारण भी नहीं किया | पिछली बार एक छुटभैये ने इसी को मुद्दा बना दिया था कि पीएम का एलान लाईव नहीं रिकार्डिड था | सो मोदी ने इस बार ऐसा कुछ नहीं किया | हिमाचल की सुंदरनगर चुनाव रैली में भाषण के दौरान उन ने संकेत जरुर दिया था | यह भाषण 5 नवम्बर को हुआ था | कांग्रेस के "बलैक डे" से तीन दिन पहले | अपने भाषण में उन ने कहा था -" उनकी चिंता है कि उन की बेनामी जमीन ,फ़्लैट , दुकानों का क्या होगा | जो उन ने 500 और 1000 के नोटों क

सेक्स, सीडी और सियासत 

Publsihed: 14.Nov.2017, 20:19

अजय सेतिया / हार्दिक पटेल की सेक्स सीडी से गुजरात में बवाल मच गया | गुजरात क्यों सारे देश में बवाल मच गया | विजुअल मीडिया को बैठे ठाले टीआरपी का मसाला मिल गया | हालांकि वह असली सीडी दिखाने की कोई हिम्मत नहीं कर रहा | जिस ने दिखा दी, उस का लाइसेंस रद्द होगा | किसी ब्ल्यू फिल्म से कम नहीं हार्दिक की सीडी | भाजपा को समर्थन करने वाले न्यूज चैनल हार्दिल पटेल की बखिया उधेड़ रहे हैं | कांग्रेस को समर्थन करने वाले हार्दिक की सेक्स सीडी को व्यक्तिगत आज़ादी बता रहे हैं | सब से मजेदार टिप्पणी कांग्रेस के साथ जुड़ने वाले जिग्नेश मवानी की आई | आप भी पढ़िए | उन ने ट्विटर पर लिखा-" सेक्स मौलि

राहुल कांग्रेस की मुस्लिम परस्ती के दाग धो देंगे 

Publsihed: 14.Nov.2017, 00:18

अजय सेतिया / गुजरात विधान सभा का चुनाव असल में मिनी लोकसभा चुनाव है | सोशल मीडिया का जायज नाजायज हर तरह का इस्तेमाल हो रहा है | हार्दिक पटेल ने जब से आरक्षण की मांग छोड़ भाजपा को मुख्य मुद्दा बनाया है | तब से हार्दिक पटेल भाजपा के निशाने पर आ गए हैं | सोमवार को हार्दिक पटेल की सेक्स सीदी सामने आ गई | राजनीति में सेक्स सीडियों का जोर है | पिछले दिनों छतीसगढ़ मूल के पत्रकार विनोद वर्मा एक मंत्री की सेक्स सीडी बनाने के मामले में धरे गए थे | वह छतीसगढ़ चुनाव में जारी करने के लिए सीडी बना रहे थे | उन ने अपने हल्फिया बयान में बाद में माना कि वह कांग्रेस के लिए काम कर रहे थे | छतीसगढ़

तो गुजरात चुनाव से पहले ही घटा जीएसटी

Publsihed: 10.Nov.2017, 20:53

अजय सेतिया / जीएसटी तो सभी राजनीतिक दलों ने मिल कर बनाया है | संसद से सभी दलों की सहमति से पास हुआ है | सारी राज्य सरकारों ने मिल कर तैयार किया है | नरेंद्र मोदी ने दस दिन पहले गुजरात में व्यापारियों के सामने यह सफाई दी थी | उन्हीं नरेंद्र मोदी ने , जिन ने 30 जून की आधी रात को संसद के सेंट्रल हाल में जीएसटी का जश्न मनाया था | यह वैसा ही जश्न था, जैसा 14 अगस्त 1947 को आज़ादी का जश्न था | जिसे आज़ादी जैसा जश्न बताया गया था | उस पर चार महीने बाद ही सफाई देनी पडी | अपना शुरू से ही मत रहा कि 18 फीसदी से ज्यादा टेक्स नहीं होना चाहिए | इस में अपन पेट्रोल को भी शामिल करने के हिमायती

हिमाचल तो निपट गया, अब गुजरात की बारी

Publsihed: 09.Nov.2017, 23:21

अजय सेतिया / हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव तो निपट गए | शाम 6 बजे वोटिंग खत्म हुई  | तब तक 74 फीसदी वोटिंग की खबर थी | पांच साल पहले हुए चुनावों से सिर्फ आधा फीसदी ज्यादा | नवम्बर में चुनाव करवाने का फैसला पिछली बार यानि 2012 में हुआ था | उस से पहले दिसम्बर में चुनाव हुआ करते थे | दिसम्बर में लाहौल स्पिति जैसे क्षेत्रों में बर्फ पड जाती थी | इस लिए तीन विधानसभा क्षेत्रों के चुनाव बर्फ पिघलने के बाद होते थे | छोटी  विधानसभा में कभी तीन सीटें ही सत्ता का संतुलन बदल सकती है | इस लिए बर्फ पड़ने से पहले ही चुनाव निपटाने का सही रास्ता निकाला गया |  2012 में हुए चुनाव

हरियाणा पुलिस की नालायकी के चर्चे तो पहले से थे

Publsihed: 08.Nov.2017, 21:33

अजय सेतिया / गुडगाँव के रेयान स्कूल में हुई बच्चे की हत्या ने नया मोड़ लिया है | जिस ने हरियाणा पुलिस पर सवाल खड़े कर दिए | अपन को शुरू से ही लगता था कि खुद मनोहर लाल खट्टर को अपनी पुलिस पर भरोसा नहीं | इस लिए उन ने सीबीआई जांच के आदेश दे दिए थे | सीबीआई ने पुलिस की सारी कहानी ही बदल कर रख दी |  दूसरी कक्षा के प्रद्युम्न ठाकुर की गला काटकर हत्या स्कूल के टायलेट में की गई थी | हालांकि सीसीटीवी फुटेज में कंडक्टर अशोक और पांच लोग भी देखे गए थे | पर पुलिस ने हडबडी में बस कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार कर उस से कबूलनामा भी करवा लिया | बाद में कंडक्टर &nbsp