India Gate Se

Exclusive Articles written by Ajay Setia

न तुम जीते, न हम हारे , हारी देश की जनता

Publsihed: 27.Dec.2017, 22:37

अजय सेतिया / कांग्रेस को बहुत  एतराज था कि मोदी ने संसद का शीत सत्र वक्त पर नहीं बुलाया | एतराज था कि गुजरात के चुनाव के कारण संसद की अनदेखी हुई | एतराज अपना भी था | अपना एतराज बुनियादी था | अपना एतराज यह था कि 2011 से संसद की अनदेखी हो रही है | पिछले सात साल से संसद का सत्र साल में तकरीबन 70 दिन चला है | जबकि 100 दिन सत्र चलाने की आम सहमती बनी हुई है | अपन ने तो यहाँ तक लिखा था कि संसद के दरवाजे पर घुटनों के बल बैठने से संसद का सम्मान नहीं होता | अलबत्ता संसद का सामना करने से संसद का सम्मान होता है | पर कांग्रेस ने पिछले दस दिन में जो कुछ किया वह क्या था | क्या वह संस

शुद्र मानसिकता का परिचय दिया पाकिस्तान ने 

Publsihed: 26.Dec.2017, 20:48

अजय सेतिया / अपन ने कल कुलभूषण जाधव के साथ उस की  मां और पत्नी  से मुलाक़ात पर लिखा था | जो कल ही इस्लामाबाद में हुई थी | उस में अपन ने तीन महत्वपूर्ण बातें कही थी | पहली - मुलाक़ात में शीशे की दीवार खडी की गई | दूसरी - मां-बेटे को मातृभाषा मराठी में बात नहीं करने दी गई | तीसरी - आईसीजे में इस्तेमाल करने के लिए अंगरेजी में करवाई गई बातचीत की वीडियोग्राफी की गई | सोमवार देर रात ही कुलभूषण की मां अवंती और पत्नी चेतानकुल दिल्ली लौट आए | तो कुछ और खुलासे हुए हैं | जो पाकिस्तान की शुद्र मानसिकता का खुलासा करते हैं | जाधव की पत्नी का मंगलसूत्र, बिंदी और चूड़ियां तक उतरवाई

मां बेटे में शीशे की दीवार खडी कर दी पाकिस्तान ने 

Publsihed: 25.Dec.2017, 21:55

अजय सेतिया / पाकिस्तान अपने स्यानेपन में ज्यादा ही बेवकूफियां करने लगता है | उन्हीं बेवकूफियों में मात खा जाता है | कुलभूषण जाधव के मामले में उस के साथ शुरू से ही यही हो रहा है | जाधव भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी हैं | जो अपने बिजनेस के सिलसिले में ईरान , दुबई आदि जगहों पर जाया करते थे | ईरान मेंआतंकवादियों ने जाधव का अपहरण कर पाकिस्तान की गुप्तचर एजेंसी को बेच दिया | जिसे पाकिस्तान ने बलूचिस्तान में पकड़ा हुआ बता कर सेना को सौंप दिया | भारत सरकार ने 23 बार काऊंसलर एक्सेस माँगा | पर पाकिस्तान ने काउंसलर एक्सेस देने से इनकार कर दिया | पाक सेना ने उसे भारत का जासूस बता कर पा

भारतीय जुडिशरी पर भरोसा न करने पर माल्या को मलाल 

Publsihed: 22.Dec.2017, 20:29

अजय सेतिया / 2 जी घोटाले पर आए सैशन जज के फैसले ने देश को हिला दिया है | भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहीम चलाने वाले सदमे में हैं | सीएजी ने 1,76, 379 करोड़ के घाटे का आकलन बताया था | विनोद राय तब सीएजी थे | कपिल सिब्बल तब मंत्री थे , उन ने सीएजी पर हमला करते हुए कहा था-" जीरो लास हुआ |" यानी टूजी के अलाटमेंट से सरकार को धेले भर का नुक्सान नहीं हुआ | पर मामला सुप्रीमकोर्ट में गया | तो सुप्रीमकोर्ट ने इसे सरकार चूना लगाना माना | सुप्रीमकोर्ट ने सभी 122 लाईसेंस रद्द कर दिए गए थे | सुप्रीम कोर्ट ने माना कि टेंडर मांगने की बजाए फिक्स रेट पर टू-जी का अलाटमेंट घोटाला था | लाईसेंस रद्द हु

बिना मजबूत एनडीए दूसरी टर्म नहीं मिलेगी मोदी को 

Publsihed: 20.Dec.2017, 21:53

अजय सेतिया / गुजरात के चुनाव नतीजों की जितनी समीक्षा करते हैं | उतने गंभीर अर्थ निकल रहे हैं | यह तो भाजपा का नेतृत्व भी मानेगा कि जैसा गुजरात वैसा सारा देश | पर जिस तरीके से मोदी ने गुजरात की नैया पार की | उसी तरीके से सारे देश की नैया पार नहीं हो सकेगी | मोदी ने खुद को गुजरात का बेटा बता कर एक तरह से रहम की भीख माँगी | आखिर में उन्होंने यह भी कह दिया कि अगर गुजरात ने उन्हें हरा दिया तो वह कहाँ जाएंगे | इस तरह की इमोशनल अपील वह यूपी , बिहार,राजस्थान और मध्यप्रदेश में तो नहीं कर सकते | जहां से 2014 में भाजपा को छप्पर फाड़ सीटें मिली थी | बंगाल, महाराष्ट्र, आंध्र,कर्नाटक और त

राहुल ने "टच थरेपी " से कांग्रेस में भर दिया आत्मविश्वास 

Publsihed: 19.Dec.2017, 23:00

अजय सेतिया / गुजरात के चुनाव नतीजे से नरेंद्र मोदी खुश हैं | ऐसा इजहार उन ने भाजपा दफ्तर में अपने भाषण में दिया था | राहुल गांधी भी गुजरात के चुनाव नतीजों से दुखी नहीं हैं | ऐसा एहसास उन की ट्विटर पोस्टों से आ रहा था | अब उन ने सामने आ कर भी नतीजों को मोदी के खिलाफ बताया | उन ने कहा-" भाजपा को जोरदार झटका लगा | भले ही हम हार गए, पर हमारे लिए अच्छे रिजल्ट हैं |" पर भाजपा के सहयोगी दल शिवसेना की टिप्पणी से मोदी जल - भुन गए होंगे | उद्धव ठाकरे ने कहा -"गुजरात में बीजेपी का सत्ता में आना बड़ी बात नहीं | असली विजेता कांग्रेस है | भाजपा किसी तरह चुनावी इम्तिहान पास करने में सफल ह

गुजरात-हिमाचल में यही नतीजे निकलने थे 

Publsihed: 18.Dec.2017, 20:01

अजय सेतिया /गुजरात और हिमाचल में भी भाजपा जीत गई | अपन ने अपने कालमों में बार बार यही लिखा था | भाजपा ने गुजरात पर छटी बार भी कब्जा बरकरार रखा | यह छोटी मोटी बात नहीं | 1990 से भाजपा का गुजरात पर कब्जा है | हिमाचल में भी कांग्रेस की सरकार गई | अब कांग्रेस की सिर्फ चार राज्यों में ही सरकार रह गई | भाजपा की 14 राज्यों में सरकारें हो गई | पांच राज्यों में एनडीए की सरकारें पहले से हैं | 2018 में आठ राज्यों में चुनाव होंगे | जिनमें चार राज्य तो भाजपा के ही हैं | पर उन का इम्तिहान तो बाद में होगा | पहले गैर भाजपाई त्रिपुरा, मेघालय, मिजोरम और कर्नाटक में चुनाव होंगे | अमित शाह ने चारों को

कांग्रेस की गुजरात में गिनती रोकने की कोशिश नाकाम 

Publsihed: 16.Dec.2017, 09:24

अजय सेतिया / उधर गुजरात के चुनाव निपटे | इधर संसद का शीत कालीन सत्र शुरू हो गया | यों तो सोमवार को गुजरात के नतीजे आने के बाद सत्र का रुख तय होगा | पर एक्जिट पोलों के नतीजों से कांग्रेसियों के मुहं उतरे हुए थे | कोई एक्जिट पोल कांग्रेस की हालत सुधरी हुई नहीं बता रहा | भाजपा को हराना तो दूर की बात | हाँ कांग्रेसियों ने रिजल्ट से पहले अपने नेता राहुल गांधी का स्वागत जरुर किया | वह तो बनता ही है | कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद सासंदों को उन के पहले दर्शन थे | इंदिरा गांधी के जमाने से कांग्रेस में ढोल-बाजों की परम्परा रही है |  कांग्रेस दफ्तर में शनिवार को ढोल-बाजे बजेंगे |

यूपी के लड़कों के बाद गुजरात के लडके भी पिटेंगे

Publsihed: 14.Dec.2017, 20:56

अजय सेतिया / गुजरात में कांग्रेस 80 सीटें ले गई | तो वह कांग्रेस की जीत होगी | यह अपन शुरू से कहते रहे है | अब गुजरात के चुनाव निपट गए हैं तो अपन आज इसे फिर दोहराते हैं | जो लोग कांग्रेस की जीत की उम्मींदे लगाए हैं | उन्हें अपनी शुभकामनाएं | अपन को ऐसी कोई उम्मींद नहीं लगती | कांग्रेस 2012 की जीती हुई 61 भी बचा ले, तो वह भी कांग्रेस की हार नहीं | 2012 में भाजपा ने 115 सीट जीती थीं  |  कांग्रेस को 61 सीटों पर जीत मिली थी | जब देश को कांग्रेस मुक्त करने की हवा चल रही हो | ऐसे में राहुल गुजरात में यथास्थिति भी बनाए रखें, तो कम नहीं | टूडे चाणक्य तो अपने एक्जिट पोल मे

मोदी ने क्या खोया, राहुल ने क्या पाया 

Publsihed: 12.Dec.2017, 21:36

अजय सेतिया / चलो गुजरात का शोर शराबा शांत हुआ | प्रधानमंत्री मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दिल्ली लौट आए | पूरे चुनाव में राहुल गांधी से कोई बड़ी भूल नहीं हुई | गुजरात ने राहुल से पप्पू का लेबल हटा दिया | राहुल गुजरात विधानसभा चुनावों के दौरान ही कांग्रेस अध्यक्ष बन गए | गुजरात ने कांग्रेस को अल्पसंख्यकवाद के भंवरजाल से निकालने की शुरुआत कर दी  |  यह श्रेय भी राहुल गांधी को जाएगा | अध्यक्ष बनते ही उन ने कांग्रेस को नी दिशा दिखा दी | जो उन की मां की अल्पसंख्यकवाद की दिशा के एकदम उल्ट है | चुनाव के आख़िरी दिन प्रेस कांफ्रेंस कर के राहुल ने खुद को नेता भी साबित