कपिल मिश्रा ने किया केजरीवाल का जीना हराम

Publsihed: 09.Jun.2017, 16:58

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बागी नेता कपिल मिश्रा रोज नए-नए कारनामे कर रहे हैं। कपिल आज केजरीवाल के जनता दरबार पहुंच गए और वहां पर समर्थकों के साथ जमकर बवाल काटा। इतना ही नहीं, दरबार में जाने से रोके जाने पर कपिल ने केजरीवाल के घर के सामने भजन-कीर्तन कर शुरू दिया।

त्रिवेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री आवास पर मंगवाई गाय

Publsihed: 09.Jun.2017, 12:05

देहरादून | जब देश भर में गौहत्या के खिलाफ और गौ रक्षा को ले कर आन्दोलन चल रहा है उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री आवास में गाय मंगवा कर अच्छी पहल की है | 2011 में बन कर तैयार हुए मुख्यमंत्री आवास में गाय पहली बार आई है | 

इस दौरान चार मुख्यमंत्री बदल चुके हैं | रमेश पोखिरियाल निशंक के बाद विजय बहुगुणा इसी मुख्यमंत्री आवास में रहे थे, जब कि मेजर जनरल भूवन चन्द्र खंडूरी के कारण मुख्य मंत्री आवास में रहने नहीं आए थे  , जबकि हरीश रावत अपना पूरा कार्यकाल इस आवास में रहने नहीं आए |

 

ब्रिटेन की त्रिशंकु संसद में सिख और सिखनी बने सांसद

Publsihed: 09.Jun.2017, 11:53

ब्रिटेन के मध्‍यावधि चुनावों में किसी को भी स्‍पष्‍ट बहुमत नहीं मिला है. सत्‍तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी की नेता और प्रधानमंत्री टेरीजा मे का समय से पहले चुनाव कराने का दांव उलटा पड़ गया है. दरअसल टेरीजा मे ने समय से तीन साल पहले ही मध्‍यवाधि चुनाव कराने का फैसला लिया था. पिछले साल ब्रेक्जिट के मुद्दे पर हुए जनमत संग्रह की पृष्‍ठभूमि में यह फैसला लिया गया है.

महाराष्ट्र में एक और किसान ने की आत्महत्या

Publsihed: 09.Jun.2017, 11:40

नई दिल्ली। मंदसौर में पांच किसानों की मौत के बाद अब महाराष्ट्र में भी एक किसान के मरने की खबर आई है। 42 साल के इस किसान की मौत पुलिस की गोलियों के कारण नहीं बल्कि आत्महत्या करने से हुई है। मरने से पहले किसान ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि जब तक मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस गांव में ना आ जाएं तब तक मेरा अंतिम संस्कार मत करना।

उत्तराखंड की बेटी बनी इसरो में वैज्ञानिक

Publsihed: 09.Jun.2017, 11:34

देहरादून। देहरादून की रहने वाली शीतल बिष्ट ने इसरो में वैज्ञानिक बनकर अपने राज्य उत्तराखंड का नाम रोशन कर दिया है। मूलरूप से बणगांव मल्ला से ताल्लुक रखने वाली शीतल ने ग्राफिक एरा विश्वविद्यालय से कंप्यूटर साइंस में बीटेक किया है। अपनी इस सफलता का श्रेय शीतल अपने माता-पिता को देती हैं। उन्होंने कहा कि उनके पेरेंट्स ने उन्हें बहुत सपोर्ट करते हैं।

ममता ने शांत गोरखालैंड में भाषा की आग लगा दी

Publsihed: 09.Jun.2017, 09:43

कलकत्ता। पश्चिम बंगाल की ममता सरकार की तरफ से राज्य के सरकारी स्कूलों में बंगाली भाषा को अनिवार्य किए जाने के प्रस्ताव के खिलाफ गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के आंदोलन ने हिंसक रूप अख्तियार कर लिया है। इस दौरान जीजेएम के समर्थकों की पुलिस से झड़प भी हुई है। गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के समर्थकों ने पुलिस के वाहनों को आग के हवाले कर दिया और उन पर पथराव भी किया है।

बैंकों में नई भर्तियाँ बंद होंगी , छंटनी का दौर शुरू

Publsihed: 09.Jun.2017, 09:33

नई दिल्ली | नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने कहा कि ऑनलाइन बैंकिंग का बढ़ता चलन आने वाले सालों में बैंक शाखाओं को समाप्त कर देगा | उन का यह ब्यान इस बात अ शुरुआती संकेत है कि बैंकों में भी नई भर्तियाँ बंद हो जाएँगी और छंटनी का दौर शुरू हो जाएगा |

मोदी-नवाज आमने-सामने हुए,तो हाल-चाल पूछा

Publsihed: 09.Jun.2017, 09:01

अस्‍ताना: कज़ाकिस्तान के अस्ताना में शंघाई को-ऑपरेशन की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के बीच रात्रि भोज के समय मुलाकात हुई है | इस मुलाकात के दौरान पीएम मोदी ने नवाज़ शरीफ़ से उनकी तबीयत के बारे में पूछा | दरअसल, नवाज़ शरीफ़ का हाल ही में दिल का ऑपरेशन हुआ था | सूत्रों के अनुसार, पीएम मोदी ने नवाज़ शरीफ़ से उनकी मां और परिवार का हाल-चाल भी पूछा |

बेचारा कर्जदार किसान क्या करे 

Publsihed: 09.Jun.2017, 08:41

अजय सेतिया / मोदी सरकार के तीन साल पूरे हुए तो 26 मई को लोकसभा टीवी पर घंटे भर की चर्चा थी | तीन पत्रकारों को बुलाया हुआ था , चर्चा के आखिर में एंकर ने आख़िरी वाक्य बोलने को कहा | संयोग से आखिर में मुझे बोलने को कहा गया था | मैंने पांच मुद्दों की शिनाख्त की थी और  कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बाकी के दो साल में इन पांच मुद्दों से निपटना होगा | अगले दिन 27 मई को इन्हीं पांच मुद्दों पर मेरा लेख नवज्योति में भी छपा था | ये पांच मुद्दे हैं  किसान, बेरोजगारी,कश्मीर,आतंकवाद और नक्सलवाद | बाद में अपने एक लेख में मैंने आतंकवाद और नक्सलवाद के चीर स्थाई मुद्दों को