कम्युनिस्टों खालिस्तानियों का गठजोड़

Publsihed: 28.Jan.2021, 19:38

अजय सेतिया / अपन ने जब नवंबर में ही कहा था कि यह पंजाब के समृद्ध  किसानों का आंदोलन है । और किसान भी ऐसे जिन की अपनी आढ़त की दूकानें है । और सरकारी खरीद एजेंसियों के अफसरों से गठजोड़ कर के छोटे किसानों का शोषण करते हैं । तो भाजपा के ही एक जाट किसान नेता ने टीवी चैनल पर अपन को भला बुरा कहा था । किसानों की कुछ मांगे जायज है। तीनों कानूनों में खामियां भी भरपूर है। उस के दूरगामी नतीजे भी भयानक होंगे । तीनों कानूनों से किसानों का भले कोई नुक्सान नहीं । पर कारपोरेट घरानों की पांचों उंगलियां घी में होंगी । दूसरी तरफ सच यह भी है कि आंदोलन की रूपरेखा बहुत गहरी थी । अनेक शक्तियों ने मिलकर स

ट्रेक्टर रैली का आईडिया किस का था 

Publsihed: 28.Jan.2021, 13:57

अजय सेतिया / राकेश टिकैत और योगेंद्र यादव जैसे इक्का दुक्का यूपी हरियाणा के चेहरे किसान आंदोलन में न होते तो यह पंजाब के जाट सिखों का ही आंदोलन है। महेंद्र सिंह टिकैत के बेटे राकेश टिकैत ने पहले तीनों कानूनों का समर्थन किया था । टिकैत बाप बेटे की कांग्रेस से नजदीकी रही है । पंजाब के किसान संगठनों ने पंजाब के फिल्मी चेहरे दीप संधू पर हिंसा करवाने और ट्रैक्टर रैली को जबरदस्ती लालकिले पर ले जाने का आरोप लगाया है । इस की वजह यह है कि दीप संधू के बहाने भाजपा और सरकार को कटघरे में खडा किया जा सकता है । दीप संधू ने गुरदा