नई दिल्ली से काठगोदाम को चली गोल्ड स्टेंडर्ड शताब्दी

Publsihed: 06.Nov.2017, 15:23

नई दिल्ली | रेल मंत्रालय ने अपनी पहली गोल्ड स्टेंडर्ड शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन दिल्ली - काठगोदाम के बीच शुरू की है | शताब्दी ट्रेन भारत की प्रीमियर ट्रेन है, लेकिन वक्त के साथ उस में बदलावों की जरूरत महसूस की जा रही थी | रेल मंत्रालय ने 25 करोड़ रूपए की लागत से 15 राजधानी और 15 शताब्दी ट्रेनों में भारी बदलाव शुरू किया है | 

बात मेक इन इंडिया की, रेल डिब्बों का आयात चीन से

Publsihed: 04.Nov.2017, 17:35

नई दिल्ली। एक ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के व्यापारियों को मेक इन इंडिया, स्कील इंडिया का पाठ पढ़ा कर स्वदेशी को विकसित करने के लिए कह रहे है | दूसरी तरफ रेल मंत्रालय ने कोलकाता मेट्रो के लिए चीन से 120 कोच खरीदने का निर्णय लिया है। चीन की जिस कंपनी को ये टेंडर दिया गया है उसने मेट्रो के लिए केवल 7 करोड़ 19 लाख रुपये की कीमत में कोच की सप्लाई का ऑफर दिया है। रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार कोलकाता मेट्रो के लिए 120 कोच फरवरी तक मिल जाएंगे।

कुछ दिन तो गुजारिए प्रकृति की गौद चम्पावत में

Publsihed: 04.Nov.2017, 17:13

क्या आप अपने डेली रूटीन से बोर हो गए हैं? क्या आप भी एक ट्रिप प्लान कर रहे हैं ताकि आप अपना मूड ठीक कर सकें। अगर हां तो ये खबर आपके लिए है। हम आपको चंपावत के बारे में बताने वाले हैं। यह जगह आपका मूड ठीक करने में आपको मदद करेगी क्योंकि चंपावत पर प्रकृति काफी मेहरबान है।

Image result for champawat

पत्रकारिता को इस संकट में ला कर किस ने खडा किया 

Publsihed: 31.Oct.2017, 09:09

अजय सेतिया / साथियो , वामपंथी लीनिंग वाले पत्रकारों को लगता है कि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद भारतीय पत्रकारिता अपने अब तक के सब से बड़े संकट के दौर से गुजर रही है | पूरी तरह नहीं , लेकिन किसी हद तक मैं भी उन से सहमत हूँ | मेरा मानना है पत्रकारों के एक वर्ग ने गोधरा काण्ड के बाद दंगों में मोदी की भूमिका के आरोप लगा टकराव की स्थिति पैदा की थी | अदालतों ने मीडिया के उन आरोपों को खारिज कर दिया, इस के बावजूद उन के रूख में कोई बदलाव नहीं आया |  देश की जनता ने उन पत्रकारों के आरोपों को खारिज करते हुए 30 साल बाद मोदी को स्पष्ट बहुमत का जनादेश दिया , लेकिन उन ख़ास व

यूपी के मदरसों में पढाई जाएँगी एनसीआरटी की किताबें

Publsihed: 30.Oct.2017, 19:01

लखनऊ | उत्तर प्रदेश के मदरसों और इस्लामी शैक्षणिक संस्थानों में भी अब एनसीईआरटी की पुस्ताकों से पढ़ाया जाएगा। राज्य मदरसा बोर्ड ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। इस बात की जानकारी खुद उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने ट्वीट करके दी है।

विनोद वर्मा की गिरफ्तारी से उठे कुछ गम्भीर सवाल

Publsihed: 28.Oct.2017, 21:48

अजय सेतिया / पूर्व पत्रकार विनोद वर्मा को अश्लील सीडी बनाने के आरोप में पकडा गया है | बताया गया है कि वह सेक्स सीडी रमन सरकार के मंत्री राजेश मूणत की है | गिरफ्तारी गाजियाबाद के इंदिरापुरम के वैभव खंड स्थित महागुन मेंशन अपार्टमेंट में उन के फ़्लैट से की गई | छतीसगढ़ और गाजियाबाद पुलिस ने आधी रात के बाद साढ़े तीन बजे गिरफ्तारी की | विनोद पर जबरन वसूली और धमकी देने का केस दर्ज किया गया  है | कई घंटे तक उनसे पूछताछ की गई | पुलिस का दावा है कि उन के फैलेट से 500 पोर्न सीडी, दो लाख रुपए नकद, लैपटॉप और एक डायरी बरामद की गई | जबकि शुरू में विनोद वर्मा ने कहा कि उसके पास सीडी नह

मोदी सरकार ने किया महंगाई घटने का दावा

Publsihed: 24.Oct.2017, 23:10

नई दिल्ली | वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले तीन सालों में मंहगाई घटी, विकास दर बढ़ी है | सरकार ने अर्थव्यवस्था के आंकड़े देख रखे हैं | उन्होंने कहा कि पिछले तीन सालों में भारत दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है. समय के साथ अर्थव्यवस्था में सुधार होता है | कई फैसलों से अर्थव्यवस्था पर असर पड़ता है. मौजूदा अर्थव्यवस्था पर पीएम मोदी से चर्चा हुई है | 

जेटली और धर्मेन्द्र प्रधान का राहुल पर पलटवार

Publsihed: 24.Oct.2017, 18:33

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त न्त्री अरुण जेटली और पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने जीएसटी पर दी गए गब्बर सिंह वाले ब्यान पर आज पलट वार किया | जहां अरुण जेटली ने कहा कि टू जी और कोयला घोटाले वालों को कानूनी टेक्स चुभेंगे ही ,वहीं धर्मेंद्र प्रधान ने इंदौर में कहा कि नया जूता भी तीन दिन काटता है। धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि जीएसटी और नोटबंदी को लेकर सिर्फ हवा खड़ी की जा रही है। आप लोग नया जूता भी खरीदते हो तो तीन दिन तक काटता है। चौथे दिन से सही हो जाता है।

मुझे तो वसुंधरा राजे से यह उम्मींद नहीं थी 

Publsihed: 24.Oct.2017, 18:27

अजय सेतिया / आज कल आदमी ( या औरत भी ) सुर्ख़ियों में तब आता है, जब कोई बुरा काम करता है | या फिर इतना बड़ा जुगाडू हो कि सफेद को काला और काले को सफ़ेद बताना जानता हो | वसुंधरा राजे और नरेंद्र मोदी में वैसे तो कोई समानता नहीं है | पर एक समानता है कि दोनों मीडिया को ज्यादा तव्वजो नहीं देते | दोनों के ऐसा करने के अपने अपने कारण हैं | नरेंद्र मोदी को 2002 में दिल्ली से गुजरात भेजा गया था | और वसुंधरा राजे को 2003 में जयपुर भेजा गया | मोदी उस समय भाजपा के महासचिव के नाते दिल्ली में जमे हुए थे और वसुंधरा राजे केंद्र में मंत्री के नाते | मोदी को मुख्यमंत्री बना कर भेजा गया था | तो वसु